जानी दुश्मन: एक अनोखी कहानी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(जानी दुश्मन (2002 फ़िल्म) से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search
जानी दुश्मन
Janidushman2002.jpg
जानी दुश्मन का पोस्टर
निर्देशक राज कुमार कोहली
निर्माता राज कुमार कोहली
लेखक के. के. सिंह (संवाद)
अभिनेता अतुल अग्निहोत्री,
राजबब्बर,
रजत बेदी,
सनी देओल,
शरद कपूर,
मनीषा कोइराला,
अक्षय कुमार,
आदित्य पंचोली,
पायल,
अमरीश पुरी,
रंभा,
मोहिनी शर्मा,
सुनील शेट्टी,
आफ़ताब शिवदेसानी,
सिद्धार्थ,
अमन वर्मा,
अरशद वारसी
संगीतकार आनंद-मिलिंद
आनन्द राज आनन्द
प्रदर्शन तिथि(याँ) 16 अगस्त, 2002
देश भारत
भाषा हिन्दी

जानी दुश्मन 2002 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसका निर्माण और निर्देशन का काम राजकुमार कोहली ने किया है। ये फ़िल्म इनका आखिरी निर्देशित फ़िल्म है। इसमें अरमान कोहली, मनीषा कोइराला, अक्षय कुमार, सनी देओल, सुनील शेट्टी, आफ़ताब शिवदासानी, सोनू निगम (अभिनेता के रूप में पहली फ़िल्म) और अरशद वारसी हैं। ये फ़िल्म 16 अगस्त 2002 को सिनेमाघरों में प्रदर्शित हुआ।

कहानी[संपादित करें]

दो इच्छाधारी नाग-नागिन, कपिल (अरमान कोहली) और वसुंधरा (मनीषा कोइराला) एक दूसरे से प्यार करते रहते हैं। एक दिन उनके गलती से एक साधू की तपस्या भंग हो जाती है, जिससे वो गुस्से में शाप दे देता है, जिससे शाम सुरज ढलते साथ वसुंधरा की मौत हो जाती है। कपिल उस साधु से क्षमा मांगता है और उसके इतने प्रयास को देखते हुए वो उसे बताता है कि वसुंधरा का अगला जन्म कई सालों के बाद होगा।

कई सालों के बाद वसुंधरा का जन्म दिव्या के नाम से होता है। एक दिन उसे किसी के बुलाने की आवाज सुनाई पड़ती है और वो उस आवाज के पीछे खींची चले जाती है। वो पेड़ के पास जाती है और उसके बाद कपिल उससे बात करता है, और उसे मणि छूने को बोलता है, मणि के छूते साथ ही उसे अपना पिछला जन्म याद आ जाता है।

अगले दिन राजेश (रजत बेदी) को पता चलता है कि अतुल (अक्षय कुमार) के पार्टी में दिव्या भी आ रही है, और वो अपनी आवाज बदल कर दिव्या को फोन करता है और उसे एक टूटे हुए किले में बुलाता है। दिव्या को लगता है कि उसके दोस्तों ने ही उस टूटे किले में पार्टी रखने का सोचा है, इस कारण वो आ जाती है। टूटे किले में उसे राजेश और मदन ही मिलते हैं, जो उसे अकेला पा कर उसके साथ बलात्कार करते हैं, जिसके बाद वो ख़ुदकुशी कर लेती है और उन सभी को इसका दोषी मानती है।

तभी कपिल वहाँ आ जाता है और वो उससे उसके ख़ुदकुशी करने का कारण पता करता है। दिव्या मरने से पहले उन सभी को दोषी बताती है और उसके बाद उसकी मौत हो जाती है। कपिल उन सभी से बदला लेने का फैसला करता है, और उसी दिन वो दिव्या के मौत के असल दोषियों, मदन और राजेश को मार देता है, पर इस बात से बेखबर की बाकी लोग निर्दोष हैं, वो उन सभी को दोषी समझ कर एक-एक कर के उन सभी को मारने लगता है।

एक के बाद एक अपने दोस्तों को मरता हुआ देख कर विवेक (सोनू निगम) डर जाता है और अपने बड़े भाई करन (सनी देओल) को फोन करता है। वो उसे बचाने के लिए आ जाता है। अंत में करन और कपिल के बीच लड़ाई होती है। जिसके बाद करन उसे मार देता है और उसके मरने के साथ ही कपिल और वसुंधरा एक हो जाते हैं।

कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

क्र॰शीर्षकगीतकारसंगीतकारगायकअवधि
1."आजा आजा"समीरआनंद-मिलिंदअलका याज्ञिक, उदित नारायण6:55
2."जानेमन तू खूब है"देव कोहलीआनन्द राज आनन्दसोनू निगम, सुनिधी चौहान5:38
3."रूप सलोना तेरा देख के"देव कोहलीआनन्द राज आनन्दसोनू निगम, देवेन्द्र सिंह, पूर्णिमा, हैरी आनन्द6:27
4."चल कुड़िये"समीरआनंद-मिलिंदजसपिंदर नरूला, सोनू निगम4:48
5."इश्क जुनून है"समीरआनंद-मिलिंदसोनू निगम, अलका याज्ञिक6:40
6."जिंदगी में तुझपे"समीरआनंद-मिलिंदअलका याज्ञिक2:01
7."जावेद भाई सो रे ले"नितिन राईकवरसंदीप चोटासोनू निगम5:18

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]