जाटव

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

जाटव भारत का एक सामाजिक समूह है जिसे चमार जाति का एक भाग भी माना जाता है। यह आधुनिक भारत के सकारात्मक भेदभाव प्रणाली में अनुसूचित जाति के रूप में वर्गीकृत की जाती है जो समुदायों (दलित) में से एक मानी जाती है। यह जाति डॉ बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर के पद चिह्नों को अपनी प्रेरणा मानती है और सामाजिक समता में विश्वास रखती है l [1][2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Singh, Kumar Suresh (1993). The scheduled castes. Anthropological Survey of India. पपृ॰ 326, 329, 331.
  2. Chandel, M. P. S. (1990). A Social Force in Politics: Study of Scheduled Castes of U.P. Mittal Publications. पृ॰ 51. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788170991939.