ज़िया फतेहबादी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मेहर लाल सोनी ज़िया फतेहबादी
जन्मनाम मेहर लाल सोनी
जन्म 9 फ़रवरी 1913
कपूरथला, पंजाब, भारत.
निवास भारतीय
मृत्यु 19 अगस्त 1986
गिल्ली.
शैली कता, रुबाई, गज़ल, नज़्म और गीत
व्यवसाय भारतीय रिजर्व बैंक (1936–1971)


ज़िया फतेहबादी, मूल नाम: मेहर लाल सोनी (1913–1986), भारत से एक उर्दू ग़ज़ल और नज़्म लेखक थे। वे सैयद आशिक हुसैन सिद्दीकी (सीमाब अकबराबादी) के शिष्य थे, जो नवाब मिर्जा खान (दाग देहलवी) के शिष्य थे। उन्होंने अपने उस्ताद गुलाम कादीर फारेख अमृतसरी के सुझाव पर अपने नाम के साथ जिया तख्ल्लुस का इस्तेमाल किया।[1][2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Urdu Authors:Date list as on May 31, 2006 जाँचें |url= मान (मदद). National Council for Promotion of Urdu, Govt. of India, Ministry of Human Resource Development.
  2. Zarina Sani (1979). Budha Darakhat. New Delhi: Bazm – e – Seemab. पृ॰ 14. :“zia fatehabadi, soni (khatri) khaandaan se ta-aluq rakhte hain… haridwaar ke panditon ke paas jo record mahfooz hai us se pata chaltaa hai ki lala badal das soni ka pota lala tansukh rai 1773 mein fatehabad se haridwaar teerathyatraa kii gharaz se aayaa.”
    (Zia Fatehabadi belongs to Soni (Khatri) family.. it becomes known from the records with pundits of Haridwar that Lala Tansukh Rai Soni, grandson of Lala Badal Das Soni had come from Fatehabad to Haridwar in 1773 on a pilgrimage trip.”) |quote= में 259 स्थान पर line feed character (मदद)