ज़ख्मी (1975 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ज़ख्मी
ज़ख्मी.jpg
ज़ख्मी का पोस्टर
निर्देशक राजा ठाकुर
निर्माता ताहिर हुसैन
लेखक हुमायूँ मिर्ज़ा
अभिनेता सुनील दत्त,
आशा पारेख,
राकेश रोशन,
रीना रॉय
संगीतकार बप्पी लाहिड़ी[1]
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1975
देश भारत
भाषा हिन्दी

ज़ख्मी 1975 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। ताहिर हुसैन द्वारा निर्मित इस फिल्म का निर्देशन राजा ठाकुर ने किया है। फिल्म में सुनील दत्त, आशा पारेख, राकेश रोशन, रीना रॉय, हेलन, जॉनी वॉकर, इफ़्तेख़ार, और आग़ा शामिल हैं। फिल्म का संगीत बप्पी लाहिड़ी ने बनाया है। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर अच्छा कारोबार किया था।

संक्षेप[संपादित करें]

आशा (आशा पारेख) से अपनी शादी की रात, आनन्द (सुनील दत्त) को अपने व्यावसायिक साथी की हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया जाता है। उस पर मुकदमा चलने तक जेल में रखा जाता है। आनन्द अपने पक्ष में कुछ भी कहने से इंकार कर देता है। इस तरह उसका वकील निष्कर्ष निकालता है कि आनन्द ने ही यह हत्या की।

यह मानने से इनकार करते हुए कि उनका भाई किसी की हत्या कर सकता है। उसके भाई, अमर और पवन, जज गाँगुली (इफ़्तेख़ार) की इकलौती बेटी निशा (रीना रॉय) का अपहरण कर लेते हैं। जिससे न्यायाधीश को आनन्द को दोषी न ठहराये जाने के लिए मजबूर किया जा सके।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

सभी गीत गौहर कानपुरी द्वारा लिखित; सारा संगीत बप्पी लाहिड़ी द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."आओ तुम्हें चाँद पे ले जाए"लता मंगेशकर, सुषमा4:36
2."अभी अभी थी दुश्मनी"लता मंगेशकर5:24
3."दिल में होली जल रही है"किशोर कुमार6:16
4."जलता है जिया मेरा"किशोर कुमार, आशा भोंसले4:55
5."नथिंग इज़ इम्पॉसिबल"किशोर कुमार, मोहम्मद रफी5:38

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "जन्मदिवस विशेष: बड़ी दिलचस्प है 'बप्पी दा' की डिस्को किंग बनने की ये कहानी..." 27 नवम्बर 2017. अभिगमन तिथि 29 अप्रैल 2019.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]