जसवंत थड़ा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

जसवंत थड़ा सफ़ेद संगमरमर से बना एक स्मारक है जो जोधपुर के मेहरानगढ़ दुर्ग के पास स्थित है। स्मारक 1899 में जसवंत सिंह के बेटे महाराजा सरदार सिंह द्वारा, महाराजा जसवंत सिंह द्वितीय के सम्मान और स्मृति में निर्मित एक शिलालेख है। यह आज तक मारवाड़ शाही परिवार के लिए श्मशान घाट के रूप में उपयोग किया जाता है। जसवंत थड़ा जोधपुर की पहाड़ियों के बीच स्थित है जिसे शहर के कई शानदार वास्तुशिल्प स्थलों में से एक माना जाता है। बता दे इसे मारवाड़ का ताजमहल भी कहा जाता है जो दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करता है।

जसवंत थड़ा का इतिहास[संपादित करें]

जसवंत थड़ा जोधपुर के 33 वें राठौड़ शासक महाराजा जसवंत सिंह द्वितीय के स्मरणोत्सव में निर्मित 19 वीं शताब्दी का शाही केंद्र है जिसे महाराजा जसवंत सिंह के पुत्र, महाराजा सरदार सिंह ने अपने पिता की याद में निर्माण किया। सेनोटाफ के भीतर दो और कब्रें हैं। इसके पास शाही श्मशान और तीन अन्य सेनोटाफ हैं।

जसवंत थड़ा की वास्तुकला[संपादित करें]

बहु-स्तरीय उद्यानों और एक शांत झील के बीच स्थित जसवंत थड़ा संगमरमर की चादरों से सुसज्जित अद्भुद संरचना है। इसमें तीन सेनोटाफ भी हैं और श्मशान केवल शाही परिवार के लिए आरक्षित है। संगमरमर की चादरें बहुत पतली हैं और जटिल नक्काशीदार हैं और इसलिए कुशल संगमरमर की मूर्तिकला का एक आदर्श चित्रण है। स्मारक में कई गुंबद और शिखर हैं जो इसे मंदिर जैसा रूप देते हैं। कुछ हिस्से ताजमहल के समान हैं इसलिए इसे मारवाड़ का ताजमहल भी कहा जाता है।

जसवंत थड़ा की यात्रा के लिए टिप्स[संपादित करें]

  • अगर आप जोधपुर में मेहरानगढ़ किले के बगल में स्थित जसवंत थड़ा की यात्रा का प्लान बना रहे है तो आपको बता दे सेनोटाफ तक पहुंचने के लिए आपको पहाड़ी पर थोड़ी चढ़ाई करनी पड़ेगी।
  • जसवंत थड़ा की यात्रा के दोरान अपने साथ पर्याप्त मात्रा में पानी लेंकर चले और अपने आप को हाइड्रेटेड रखें।
  • यात्रा के दोरान आरामदायक कपडे पहने और धुप से बचने के लिए सन गलासेस और टोपी अवश्य साथ ले कर चले।

जसवंत थड़ा के खुलने और बंद होने का समय[संपादित करें]

जसवंत थड़ा पर्यटकों के घूमने के लिए प्रतिदिन सुबह 9.00 बजे से शाम 6.00 बजे तक खुला रहता है। आपको बता दे जसवंत थाड़ा की पूर्ण व विस्तृत यात्रा के लिए 1-2 घंटे का समय निकालकर यात्रा सुनिश्चित करें।

जसवंत थड़ा की एंट्री फीस[संपादित करें]

  • जसवंत थाड़ा में भारतीय पर्यटकों के घूमने के लिए :  20 रूपये प्रति व्यक्ति
  • विदेशी पर्यटकों के लिए : 30 रूपये प्रति व्यक्ति
  • जबकि आपको कैमरा के लिए : 25 और वीडियो कैमरा के लिए : 50 रूपये की टिकट अलग से लेनी होगी।


अगर आप जोधपुर में जसवंत थड़ा घूमने जाने का प्लान बना रहे है तो हम आपको बता जोधपुर में जसवंत थाडा के अलावा भी अन्य लोकप्रिय पर्यटक स्थल है जिन्हें आप अपनी जसवंत थाडा जोधपुर की यात्रा दौरान घूम सकते हैं –

जोधपुर के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल[संपादित करें]

जोधपुर के प्रमुख धार्मिक स्थल और मंदिर[संपादित करें]

  • चामुंडा माता मंदिर
  • महामंडलेश्वर महादेव
  • सोमनाथ मंदिर
  • ओम बन्ना मंदिर
  • महामंदिर

जोधपुर में घूमने वाली जगहें[संपादित करें]

अगर आप अपने परिवार या दोस्तों के साथ जसवंत थाडा जोधपुर घूमने जाने का प्लान बना रहे है तो हम आपको बता दे आप हवाई, ट्रेन या सड़क मार्ग में से किसी से भी यात्रा करके जसवंत थाडा जोधपुर पहुंच सकतें है।

हवाई जहाज से जसवंत थडा कैसे पहुंचे[संपादित करें]

जसवंत थाडा का निकटतम हवाई अड्डा अपना घरेलू हवाई अड्डा है जो जसवंत थाडा से लगभग 08 किलोमीटर दूर स्थित है। यह हवाई अड्डा दिल्ली, मुंबई, जयपुर और कोलकाता जैस देश के कई प्रमुख शहरों से हवाई मार्ग से जुड़ा हुआ है। हवाई अड्डे पर उतरने के बाद यहां से आप कैब किराए पर ले सकते हैं या प्री-पेड टैक्सी बुक करके जसवंत थाडा जोधपुर आसानी से पहुंच सकते हैं।

बस से जसवंत थडा जोधपुर कैसे जाये[संपादित करें]

जसवंत थडा जोधपुर की यात्रा सड़क मार्ग से यात्रा करना काफी आरामदायक साबित हो सकता है क्योंकि यह सिटी अच्छी तरह रोड नेटवर्क द्वारा भारत के कई प्रमुख शहरों जैसे मुंबई, दिल्ली, इंदौर, कोटा और अहमदाबाद से अच्छी तरह से जुड़ा है। बस से यात्रा करने के लिए भी आपके सामने बहुत से विकल्प होते हैं। आप डीलक्स बसें, एसी कोच और राज्य द्वारा संचालित बसों के माध्यम से जसवंत थाडा की यात्रा कर सकते हैं।

ट्रेन से जसवंत थाडा कैसे जाये[संपादित करें]

जोधपुर राजस्थान का एक प्रमुख शहर है जो रेल के विशाल नेटवर्क पर स्थित है। जोधपुर रेलवे स्टेशन भारत के प्रमुख शहरों जैसे जयपुर, दिल्ली, कोलकाता, इंदौर, मुंबई और कोटा से ट्रेनों द्वारा जुड़ा हुआ है। भारत के कई बड़े शहरों से जोधपुर के लिए प्रतिदिन कई ट्रेने चलती हैं। रेलवे स्टेशन पहुंचने के बाद आप एक टैक्सी ,कैब या एक ऑटो-रिक्शा किराए पर लेकर जसवंत थाडा जोधपुर पहुंच सकते हैं।

चित्र दीर्घा[संपादित करें]

[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "जसवंत थड़ा घूमने की जानकारी - Jaswant Thada Information In Hindi". Holidayrider.Com (अंग्रेज़ी में). 2020-01-04. अभिगमन तिथि 2022-09-14.