जव्वाद एस ख्वाजा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(जवाद एस ख्वाजा से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search
जव्वाद ऍस ख्वाजा


राष्ट्रीयता पाकिस्तानी
धर्म इस्लाम

जस्टिस जव़्व़ाद एस ख्वाजा 10 सितंबर 1950 को पैदा हुए। [1], उन्होंने बतौर पाकिस्तान के 23 वें मुख्य न्यायाधीश सेवाओं का आयोजन किया। वजीराबाद में जन्मे जवाद एस ख्वाजा ने प्रारंभिक शिक्षा मिशन स्कूल वजीराबाद से प्राप्त की। इसके बादकालज शिक्षा लॉरेंस कॉलेज घोड़ा गली, मरी, ाैचेसन कॉलेज लाहौर और फोरमैन क्रिश्चियन कॉलेज लाहौर से प्राप्त की.जसटस जवाद एस ख्वाजा ने अपना एलएलबी पु लाहौर कॉलेज से किया। एलएलएम के लिए उन्होंने कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय बार्कले का रुख किया। 1975 में उन्होंने लाहौर हाई कोर्ट में बतौर वकील प्रैक्टिस शुरू की.वह कारनीलस, लेन और मुफ्ती साथी थे, जो पाकिस्तान की बड़ी कानूनी कंपनी है। 1999 में वह लाहौर हाई कोर्ट के जज बन गए। 9 मार्च 2007 को उन्होंने जस्टिस इफ़्तिख़ार को मजबूर रिटायर करने पर इस्तीफा दे दया.ागसत 2007 में उन्होंने लाहौर विश्वविद्यालय प्रबंधन विज्ञान नीति विभाग में शामिल हो गए ली.ाकतोबर 2007 मई 2009 तक वह विभाग के प्रमुख रहेास के बाद वह सुप्रीम कोर्ट ऑफ पाकिस्तान का हिस्सा बन गए। न्यायमूर्ति जवाद एस ख्वाजा कुछ महत्वपूर्ण मुकदमों का भी हिस्सा रहे। एस एच सी बी ए मामले में उन्होंने मुशर्रफ के 3 नवंबर 2007 केाीमरजंसी के कदम को असंवैधानिक करार दिया। उन्होंने कई जज को भी बहाल, जिन्हें उनकी सीट से जबरन हटा दिया गया था। वह एनआरओ मकदमेका भी हिस्सा भी रहे।

महत्वपूर्ण निर्णय[संपादित करें]

हालांकि न्यायमूर्ति जवाद एस ख्वाजा ने 23 दिन बतौर मुख्य न्यायाधीश सेवारत दिए लेकिन इस अवधि में भी उन्होंने कई महत्वपूर्ण फैसले दिए जिनमें से एक दो स्थिति प्रकार हैं:

  • जवाद एस ख्वाजा इस बेंच में मौजूद थे जिसने सिंध हायकोर्ट मामले को निपटा, इस पीठ ने 2007 सैन्य ताखत को असंवैधानिक करार देते हुए कई न्यायाधीशों को बहाल किया।
  • अरब प्रधानों अक्सर आते और पाकिस्तान में (विशेषकर बलूचिस्तान प्रांत में) पक्षियों का अंधाधुंध शिकार करते थे.जसटस जवाद एस ख्वाजा ने राजकुमारों के शिकार पर प्रतिबंध लगाया। जिसकी वजह से कई पर्यावरण संगठनों ने इस फैसले की सराहना की। [2]
  • संविधान के अनुसार उर्दू को राष्ट्रीय भाषा बनाने का आदेश जारी किया। और यह आदेश जारी किया कि सभी दस्तावेजों को उर्दू में स्थानांतरित किया जाए।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]