जयवा मुकने

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
महाराज जयवाराव मुकने
जव्हार के राजा मुकने
Statue of Maharaja Yashwantrao Martandrao Mukne of Jawhar State.jpg
जयवा के वंशज एवं जव्हार रियासत के अंतिम महाराजा यशवंतराव मार्तंडराव मुकने १९४७
पुत्रनेमशाह मुकने
जन्मजगप्पा नायक
मुकने किला
निधनजून १३४३
जव्हार
जीवनसंगीरानी मोहना बाई मुकने (धर्मगढ़ की राजकुमारी)
संताननेमशाह मुकने, होलकरराव मुकने
पूरा नाम
महाराज जयदेवराव जगप्पा नायक मुकने
मंदिर नाम
महालक्ष्मी मंदिर, जव्हार, महाराष्ट्र, भारत
घरानामुकने राजवंश
धर्महिन्दू कोली
पेशाकोली कबीले का नायक

मुकने जव्हार रियासत के पृथम कोली शासक थे। वें जव्हार रियासत एवं मुकने राजवंश के संस्थापक थे। उन्होने १३०६ मे जव्हार रियासत और मुकने राजवंश की स्थापना की। इनके पुत्र का नाम नेमशाह मुकने था।[1][2][3]

इतिहास[संपादित करें]

जव्हार रियासत पर शासन स्थापित करने के पश्चात ही जयवा मुकने जव्हार मे महालक्ष्मी मंदिर का निर्माण किया।[4] स्थानिय लोगों के अनुसार, जयवा मुकने तालपास के पास एक मुकने किले पर कोली कबीले का मुखिया था। एक बार जब जयवा पिंपरी मे मंदिर के दर्शन करने गये और वहा के पुजारियों ने उनको भविष्य मे जव्हार का राजा होने की बात कही। इसके बाद जयवा गुजरात के काठियावाड़ गए और वहां सात बर्ष तक रहें। गुजरात से जयवा मुकने कोली सेना लेकर आए और जव्हार पर आक्रमण कर दिया एवं कोली राज स्थापित किया। इसके पश्चात राजा जयवा मुकने का विवाह धर्मगढ़ की राजकुमारी मोहनाबाई मुकने से हुआ जिससे उन्हें दो पुत्र प्राप्त हुए नेमशाह मुकने एवं होलकरराव मुकने। जयवा मुकने की मृत्यु के पश्चात जव्हार की राजगद्दी नेमशाह मुकने ने संभाली जिसे दिल्ली सल्तनत के सुल्तान मुहम्मद बिन तुगलक ने शाह की उपाधि से सम्मानित किया एवं राजा स्वीकार किया।[5][6][7]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Nairne, Alexander Kyd (1988). History of the Konkan (अंग्रेज़ी में). Asian Educational Services. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-206-0275-5. मूल से 27 मार्च 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2020.
  2. Dept, India Foreign and Political (1876). Bombay presidency (अंग्रेज़ी में). Re-printed at the Foreign Office Press. मूल से 27 मार्च 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2020.
  3. Selections from the Records of the Bombay Government (अंग्रेज़ी में). Government at the Bombay Education Society's Press. 1856. मूल से 27 मार्च 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2020.
  4. Tribhuwan, Robin D. (2003). Fairs and Festivals of Indian Tribes (अंग्रेज़ी में). Discovery Publishing House. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-7141-640-0. मूल से 27 मार्च 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2020.
  5. Gazetteer of the Bombay Presidency: Tha'na (2 pts.) (अंग्रेज़ी में). Government Central Press. 1882. मूल से 27 मार्च 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2020.
  6. Aberigh-Mackay, George (1878). The Native Chiefs and Their States in 1877: A Manual of Reference (अंग्रेज़ी में). Times of India Steam Press. मूल से 27 मार्च 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2020.
  7. "JAWHAR". members.iinet.net.au. मूल से 2 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-11-28.