जन्‍मेजय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

महाभारत के बाद हस्तिनापुर के महाराज परीक्षित के पुत्र जन्मेजय हुए | इन्होने नागयज्ञ किया तथा तक्षक सर्प को मारने हेतु यह यज्ञ किया जिसमे पृथ्वी के सारे नाग मरे गए। इनके वंशज आगे चलके तोमर कहलाये | सम्राट क्षेमक इनके वंशज थे जो अंतिम सम्राट हुए तथा उनके वंशज रजा तुंग हुए जो दक्षिण भारत में कर्नाटक में पुनः राज्य स्थापित करने में सक्षम हुए।