जगदीश सिंह खेहर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
न्यायमूर्ति जगदीश सिंह खेहर[1]

पदस्थ
कार्यभार ग्रहण 
04 जनवरी 2017[1]
द्वारा नियुक्त प्रणब मुखर्जी
भारत के राष्ट्रपति
पूर्व अधिकारी टी एस ठाकुर

न्यायाधीश , उच्च्तम न्यायालय ,भारत
कार्यकाल
13 सितम्बर 2011 – 03 जनवरी 2017

मुख्य न्यायाधीश, कर्नाटक हाई कोर्ट
कार्यकाल
8 अगस्त 2010 – 12 सितम्बर 2011

जन्म 28 अगस्त 1952 (1952-08-28) (आयु 64)[1][3]
राष्ट्रीयता भारतीय
विद्या अर्जन पंजाब विश्वविद्यालय,चंडीगढ़
व्यवसाय जज
धर्म सिख [4]

जस्टिस जगदीश सिंह खेहर (जन्म:28 अगस्त 1952) वर्तमान में 44वें भारत के मुख्य न्यायाधीश हैं। 04 जनवरी 2017 को प्रधान न्यायाधीश के पद की शपथ ग्रहण की। वे सिख समुदाय से उच्चतम न्यायालय के प्रथम न्यायाधीश होंगे।

शिक्षा[संपादित करें]

वर्ष १९७४ में चंडीगढ़ के राजकीय कॉलेज से विज्ञान में स्नातक उपाधि प्राप्त की। वर्ष १९७७ में पंजाब विश्वविद्यालय से विधि में स्नातक और १९७९ में एल एल एम् की उपाधि प्राप्त की।[3] विश्वविद्यालय में अच्छे प्रदर्शन के लिए आप को स्वर्ण पदक भी मिला।

व्यवसाय[संपादित करें]

एडवोकेट के रूप में[संपादित करें]

  • 1979 :में इन्होंने वकालत प्रारम्भ की। इस अवधि में पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट चंडीगढ़ ,हिमाचल प्रदेश हाई कोर्ट तथा उच्चतम न्यायालय में वकालत की।
  • 1992 :में पंजाब में अतिरिक्त महाधिवक्ता नियुक्त किया गया।
  • 1995 : में वरिष्ठ एडवोकेट बने।

न्यायाधीश के रूप में[संपादित करें]

  • 2009 :29 नवम्बर 2009 – 7 अगस्त 2010 तक उत्तराखंड हाई कोर्ट में मुख्य न्यायाधीश रहे।
  • 2010 :08 अगस्त 2010 से 12 सितम्बर 2011 तक कर्नाटक हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रहे।
  • 2011 :13 सितम्बर 2011 से 03 जनवरी 2017तक उच्चतम न्यायालय ,भारत के न्यायाधीश।
  • 2017 :04 जनवरी 2017 से 27 अगस्त 2017 तक उच्चतम न्यायालय ,भारत के मुख्य न्यायाधीश।

सन्दर्भ[संपादित करें]