जगतसुन्दर मल्ल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जगतसुन्दर मल्ल

जगतसुन्दर मल्ल (माष्टर जगतसुन्दर मल्ल) नेपाल भाषा का पुनर्जागरण काल के नेपालभाषा शिक्षा प्रचारक थे। वेह नेपालभाषा पुनर्जागरण के चार प्रमुख स्तम्भों में से एक है। इन्होने बालबालिकाओं के लिए इसप के कहानियों को नेपालभाषा में अनुवाद करके इसपं दयेकातःगु बाखं नामक पुस्तक प्रकाशित किया। इन्होने भक्तपुर में नेपालभाषा में पठन-पाठन के लिए एक विद्यालय की भी स्थापना की। इनकी मान्यता थी कि बच्चे अपने मातृभाषा में पढें तो ज्ञान आर्जन जल्दी कर सकते है।

व्यक्तिगत जीवन[संपादित करें]

इनका जन्म ने॰स॰ १००३ कउलागा में हुवा था। इन का पिता का नाम विष्णुधर मल्ल व माता का नाम जगतलक्ष्मी मल्ल है। इनका निवास‌ क्वाथ छेँ, खौमा, भक्तपुर मै था। इनके धर्मपत्नी जनकलक्ष्मी मल्ल थी।

कृतियाँ[संपादित करें]

इनका कृतियाँ इस प्रकार है-

  • नेपाल अंग्रेजी फस्टबुक
  • गोरखाली अंग्रेजी फस्टबुक
  • सुगमबोध गणित
  • इसपं दयकागु बाखँ

देखें[संपादित करें]