छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानन्द तकनीकी विश्वविद्यालय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद
तकनीकी विश्वविद्यालय
(सीएसवीटीयू)

आदर्श वाक्य:ज्ञानं नेचं परिज्ञात (संस्कृत)
स्थापित३० जुलाई २००५
प्रकार:सार्वजनिक
कुलपति:प्रो. मुकेश कुमार वर्मा
अवस्थिति:भिलाई, छत्तीसगढ़, भारत
परिसर:शहरी
सम्बन्धन:यूजीसी (आंशिक)
जालपृष्ठ:www.csvtu.ac.in


सीएसवीटीयू का नेवईभाठा स्थित नवीन भवन

छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानन्द तकनीकी विश्वविद्यालय भारत के छत्तीसगढ़ राज्य के दुर्ग जिले के भिलाई शहर में स्थित तकनीकी विश्वविद्यालय है। इसे संक्षिप्त रूप से सीएसवीटीयू के नाम से भी जाना जाता है। इसकी स्थापना तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह के हाथों ३० जुलाई २००५ को हुई थी। छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानन्द तकनीकी विश्वविद्यालय से संबद्ध राज्य में ४५ इंजीनियरिंग महाविद्यालय, एक आर्किटेक्चर महाविद्यालय, ३८ पॉलीटेक्निक और ११ फार्मेसी महाविद्यालय शामिल हैं।

सीएसवीटीयू कार्य परिषद[संपादित करें]

छत्तीसगढ़ विधानसभा ने २५ जुलाई २०१४ को सीएसवीटीयू अधिनियम २००४ में संशोधन करते हुए कार्य परिषद में सदस्यों की संख्या ३२ से घटाकर सीधे ११ कर दी। इसमें सात पद पदेन हैं, जिनमें वित्त, तकनीकी शिक्षा, तकनीकी शिक्षा संचालनालय के अधिकारी शामिल हैं। बाकी बचे ४ पदों में से एक पद विधानसभा के नामित सदस्य और एक संबद्ध कॉलेज के प्राध्यापक के लिए सुरक्षित रखा गया है।

डॉ वर्मा कुलपति नियुक्त[संपादित करें]

कुलाधिपति बलराम दास टंडन ने चयन समिति की अनुशंसा पर कुलपति पद पर २६ अगस्त २०१५ को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रायपुर में प्रोफेसर डॉ मुकेश कुमार वर्मा की सीएसवीटीयू का कुलपति नियुक्त किया। डॉ वर्मा ने ३ सितंबर को दुर्ग संभागायुक्त अशोक अग्रवाल से कुलपति का पदभार ग्रहण किया।

सन्दर्भ[संपादित करें]

छत्तीसगढ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय अधिनियम, २००४ - हिन्दी

छत्तीसगढ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय अधिनियम, २००४ - अंग्रेजी

छत्तीसगढ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय अधिनियम, २०१४ - हिन्दी

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सीएसवीटीयू का आधिकारिक जालस्थल