चौड़ा बाज़ार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

चौड़ा बाज़ार, लुधियाना शहर का मुख्य और पुराना बाजार है। यह लुधियाना के एक व्यावसायिक केंद्र की तरह है। [1][2]

इतिहास[संपादित करें]

चौड़ा बाजार 19वीं शताब्दी का एक पुराना बाजार है। कुछ पुरानी इमारतें अभी भी चौड़ा बाजार की सड़कों पर स्थित है। यह लुधियाना में सतलज नदी के तट पर स्थापित किया गया था। "चौड़ा बाजार" का अंग्रेजी में शाब्दिक अर्थ है 'वाइड मार्केट'। पहले बाज़ार की सड़कें विस्तृत रही होने से इसका नाम चौड़ा बाजार हो गया। लेकिन 21वीं सदी की जनसंख्या के अनुसार सड़कें बहुत ही संकीर्ण हैं। दिन में यहाँ से निकल पाना मुश्किल है, और फिर भी यहाँ लोगों की भीड़ लगी रहती है। हर रविवार एक विशेष और सबसे व्यस्त दिन होता है, जैसे बॉक्सिंग डे। सोमवार को ज्यादातर बाजार बंद रहता है। लुधियाना में एक कहावत है कि अगर कोई चीज़ कहीं भी उपलब्ध नहीं है तो यह केवल चौड़ा बाजार से ही मिल सकती है। पुराना लुधियाना शहर चौड़ा बाजार, दरेसी, पुराना बाजार और घास मंडी तक सीमित था। इससे पहले लोग घास मंडी से घास बेचते थे। आज यह थोड़ा अटपटा लग सकता है, लेकिन घास उस समय एक महत्वपूर्ण वस्तु थी क्योंकि अधिकांश परिवहन घोड़े संचालित गाड़ियों के माध्यम से किया जाता था और घोड़ों का पेट भरने के लिए उन को केवल घास खिलाया जाता था।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Chaura Bazaar may feature in Guddu Dhanoa's next". The Times of India. Feb 26, 2011. मूल से 7 जुलाई 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 मार्च 2017.
  2. "Illegal structures: MC trains guns on Chaura Bazaar". The Times of India. Dec 29, 2009. मूल से 3 जनवरी 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 मार्च 2017.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]