चोर और चाँद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
चोर और चाँद
चोर और चाँद.jpg
चोर और चाँद का पोस्टर
निर्देशक पवन कौल
निर्माता आदित्य पंचोली
अभिनेता आदित्य पंचोली,
पूजा भट्ट
संगीतकार निखिल-विनय
छायाकार प्रमोद प्रधान
प्रदर्शन तिथि(याँ) 11 अगस्त, 1993
देश भारत
भाषा हिन्दी

चोर और चाँद 1993 में बनी हिन्दी भाषा की नाटकीय प्रेमकहानी फ़िल्म है। इसमें आदित्य पंचोली और पूजा भट्ट मुख्य भूमिकाओं में हैं। फिल्म अपने समय में व्यावसायिक विफलता थी लेकिन इसे इसके गीतों के लिये जाना जाता है।

संक्षेप[संपादित करें]

रीमा (पूजा भट्ट) अपने विधुर व्यापारी पिता दिनकर (आलोक नाथ) और अपनी दादी के साथ एक अमीर जीवनशैली जीती है। उसके पिता चाहते हैं कि वह विकी से शादी करे लेकिन वह उसे नापसंद करती है। शादी के दिन रीमा भागने की योजना बना रही है। इस समय वह अपने घर में एक अजनबी को देखती है। सोचती है कि वह उसके पिता का कर्मचारी है। वह उससे भागने की कोशिश करती है लेकिन वह उसे पकड़ लेता है। वह उसे बताता है कि उसका नाम सूरज उर्फ ​​सूर्या है। वह पूर्व अपराधी है जिसे अभी जेल से रिहा कर दिया गया है। चूँकि उसके पास पैसा नहीं थे, वह कुछ भी खाने में असमर्थ था और इसलिए पैसे और गहने चुरा लेने के लिए उसके घर में घुस गया था। भागते समय वे हीरो (रघुवीर यादव) से भी मिलते है जिसने बैंक को लूटने का प्रयास किया था ताकि वह बॉम्बे जा सके और फिल्म स्टार बन सकें। बैंक को लूटने का उसका प्रयास असफल रहा और वह अब पुलिस से भाग रहा है। जब दिनकर को बताया जाता है कि रीमा भाग गई है तो वह लाला नाम के एक स्थानीय गैंगस्टर से संपर्क करता है और उसे ढूंढने के लिए कहता है। लाला ने अपने गुंडे रंगा को रीमा को खोजने के लिए भेजा। रंगा को पता चला कि रीमा, हीरो और सूरज कहाँ छुपे हैं। उसी समय, इंस्पेक्टर नायक (अवतार गिल) को भी उनके ठिकाने का पता चला। लेकिन नायक के पास उनका पता लगाने का एक अलग कारण है - उसको सूरज से बदला लेना है और खुद के लिए रीमा चाहता है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि रीमा, सूरज और हीरो को परेशानी के अलावा कुछ नहीं है। एक तरफ गैंगस्टर और उसके आदमी और दूसरी ओर इंस्पेक्टर नायक जिससे उनका बच निकलना नामुमकिन लगता है।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

फिल्म तो असफल रही थी लेकिन इसके गीतों को सदाबहार माना जाता है। यहाँ तक की फर्स्टपोस्ट ने तो इसे केवल इसके गानों के लिये ही देखी जा सकने वाली फिल्म कहा है।[1]

सभी निखिल-विनय द्वारा संगीतबद्ध।

क्र॰शीर्षकगीतकारगायकअवधि
1."बात क्या है कैसे कह दे तुम से राज़ की"योगेशएस॰ पी॰ बालसुब्रमण्यम, अनुराधा पौडवाल5:51
2."शरमा के बादलों में चंदा क्यों छुप रहा"योगेशएस॰ पी॰ बालसुब्रमण्यम, अनुराधा पौडवाल5:40
3."मोहब्बत में दुनिया से हम ना डरेंगे"योगेशएस॰ पी॰ बालसुब्रमण्यम, अनुराधा पौडवाल5:01
4."जानम जानम तुम को सनम चाहा तेरी कसम"योगेशउदित नारायण, अनुराधा पौडवाल7:35
5."लगने लगा है मुझे आजकल"योगेशएस॰ पी॰ बालसुब्रमण्यम, अनुराधा पौडवाल5:24
6."सपनो में आना दिल में समाना"योगेशएस॰ पी॰ बालसुब्रमण्यम, अनुराधा पौडवाल6:35
7."तेरे बिन कहीं जियरा लागे ना"योगेशकुमार सानु, अनुराधा पौडवाल7:54
8."सौ बार हमने तुम से कहा"योगेशअनुराधा पौडवाल, एस॰ पी॰ बालसुब्रमण्यम6:03
9."तेरे बिना मैं ना रहूँ"रवीन्द्र रावलकुमार कंचा, अनुराधा पौडवाल4:53
10."साँसों का क्या है पता"योगेशअनुराधा पौडवाल, एस॰ पी॰ बालसुब्रमण्यम5:42

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Aditya Pancholi, Pooja Bhatt's 1993 film Chor Aur Chand deserves a revisit simply for its melodious soundtrack" [आदित्य पंचोली, पूजा भट्ट की 1993 की फिल्म चोर और चाँद केवल अपने मधुर साउंडट्रैक के लिए देखी जाने की पात्र है]. फर्स्टपोस्ट. 29 मई 2018. अभिगमन तिथि 3 जुलाई 2018.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

चोर और चाँद इंटरनेट मूवी डेटाबेस पर