चोरगाँव गाँव, असरगंज (मुंगेर)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

चोरगाँव असरगंज, मुंगेर, बिहार स्थित एक गाँव है[1]


facebook


  यह पुरुषोत्तमपुर(पर्सोत्तिमपुर सतघरिया) गांव है। चोरगांव या चौरगांव Chorgaon or Chaurgawn इसका वैकल्पिक नाम है।


पुरुषोत्तमपुर Purushottampur बिहार राज्य के मुंगेर जिले के असरगंज ब्लॉक का एक गाँव है. यह जिला मुख्यालय के मुंगेर से पूर्व की ओर 31 KM की दूरी पर स्थित है तथा असरगंज से 7km दूर स्थित है. राज्य की राजधानी पटना पुरुषोत्तमपुर पिन कोड 813201 से 188 KM दूर है और डाक प्रधान कार्यालय असरगंज है[2]


आसपास के गांव[संपादित करें]

              सजुआ (4 KM), जोरारी (5 KM), असरगंज (6 KM), मकवा (6 KM), कौरिया (7 KM) चौरगांव के नजदीकी गांव हैं[3].

भाषा एवं संस्कृति[संपादित करें]

पुरुषोत्तमपुर के अधिकांश लोग मैथिली भाषा की तरह बोलते हैं जिसमें अधिकांशतः अंगिका भाषा का ही रूप देखा जाता है


प्राचीन मान्यता एवं नामकरण[संपादित करें]

इस गांव का इतिहास यहां के स्थानीय निवासी व बुजुर्ग वर्ग के लोग आज भी सुनाते हैं कि इस गांव में मात्र 7 ही घर हुआ करता था. एक बार एक व्यापारी इसी गांव से होकर नमक की बोरी ले जा रहा था. गांव देखकर उसे विश्राम करने का मन किया. उसने विश्राम करने के लिए अपने बैलगाड़ी को एक गढ्ढे में लगा दिया जो एक तालाब सा प्रतीत होता था. रात में वर्षा का पानी नहर से होते हुए उस तालाब में चला गया. अगले दिन जब व्यापारी अपने बैल को लेकर बैलगाड़ी में बांधने गया तो उसने जो देखा उसे देखकर वो अवाक् रह गया तालाब में बिल्कुल थोड़ा पानी था, सारे नमक की बोरी यूं गाड़ी में बंधी हुई थी परंतु किसी में नमक नहीं था. तभी से उस व्यापारी ने गांव का नाम चोरगांव रख दिया. जिसे आगे चलकर गांव के तत्कारिक सरपंच एवं प्रतिष्ठित नेता डॉ लोकनाथ सिंह ने बदल कर चौरगांव रख दिया, जो आज इस गांव का उपनाम है.[4]


मुख्य आकर्षण[संपादित करें]

गांव में देखने लायक बहुत सी चीज़ें हैं जैसे ढोलपहाड़ी पर्वत जो कि गांव से 1km की दूरी पर है यह एक दार्शनिक स्थल में से एक है, इसका वर्णन चीनी यात्री ह्वेन त्सांग ने भी अपनी यात्रा वृतांत में किया है[5]। इसके अतिरिक्त Tannushree park[6] , महाराजा खेतौरिया गढ़[7] इत्यादि कई दर्शनीय स्थल एवं हिन्दू मंदिर स्थित हैं[8].

मुख्य सड़कें[संपादित करें]

गांव को दक्षिण से उत्तर की ओर जोड़ने वाली सड़क Dr Loknath singh Rd[9] हैं.


सन्दर्भ[संपादित करें]


  1. "चोर्गओं". चोर्गओं. अभिगमन तिथि 2020-02-24.
  2. "मशरूम उत्पादन कर स्वावलंबी बनीं पुरुषोत्तमपुर की महिलाएं". Dainik Bhaskar. 2018-12-18. अभिगमन तिथि 2020-02-25.
  3. "Chorgaon Village in Asarganj (Munger) Bihar | villageinfo.in". villageinfo.in. अभिगमन तिथि 2020-02-24.
  4. "बाढ़ प्रभावित परिवार एवं फसल के सर्वे में जुटे कर्मी". Dainik Bhaskar. अभिगमन तिथि 2020-02-24.
  5. "ऐतिहासिक घटनाओं का गवाह है ढोल पहाड़ी" जाँचें |url= मान (मदद). Dainik Jagran. अभिगमन तिथि 2020-02-24.[मृत कड़ियाँ]
  6. "तन्नुश्री पार्क". तन्नुश्री पार्क. अभिगमन तिथि 2020-02-24.
  7. "महाराजा खेतौरिया गढ़". महाराजा खेतौरिया गढ़. अभिगमन तिथि 2020-02-24.
  8. "नौ दिवसीय हवन यज्ञ व अष्टजाम संपन्न" जाँचें |url= मान (मदद). Dainik Jagran. अभिगमन तिथि 2020-02-24.[मृत कड़ियाँ]
  9. "डॉक्टर लोकनाथ सिंघ मार्ग". डॉक्टर लोकनाथ सिंघ मार्ग. अभिगमन तिथि 2020-02-24.