चुम्बकीय गोला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
चुम्बकीय गोले का कलात्मक प्रतिपादन।

चुम्बकीय गोला तब बनता है, जब आवेशित कणों का प्रवाह (जैसे की सौर वायु) किसी ग्रह या उसी तरह के किसी पिंड की आतंरिक चुम्बकीय क्षेत्र से टकराता है।