चिरकालीन वन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
क्वीन्सलैण्ड, ऑस्ट्रेलिया में एक चिरकालीन वन

चिरकालीन वन (Old-growth forest) या प्राथमिक वन (Primary forest) ऐसा वन होता है जिसकी आयु बहुत अधिक हो और जिसमें मानव हस्तक्षेप से परिवर्तन न हुआ हो या बहुत कम हुआ हो। ऐसे वनों को पर्यावरण संरक्षण में बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। इनमें मूल स्थानीय वनस्पति व प्राणी जातियाँ अपनी प्राचीन अवस्था और जीवनचक्र के अनुसार निवास करती हैं। कभी-कभी ऐसे वनों में वृक्ष सैंकड़ों वर्षों से उगते हुए बहुत ऊँचे और फैले हुए होते हैं, जिस से इनके कई भागों में भूमि पर छाय रहती है।[1][2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. White, David; Lloyd, Thomas (1994). "Defining Old Growth: Implications For Management". Paper Presented at the Eighth Biennial Southern Silvicultural Research Conference, Auburn, al, Nov. L-3, 1994. Eighth Biennial Southern Silvicultural Research Conference. अभिगमन तिथि 23 November 2009.
  2. The State of the World's Forests 2020. In brief – Forests, biodiversity and people. Rome: FAO. 2020. पृ॰ 9. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-92-5-132707-4. डीओआइ:10.4060/ca8985en.