चिट्ठाकारी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

चिट्ठाकारी या ब्लॉगिंग चिट्ठा (ब्लॉग) में लिखने का कार्य है। मूल रूप से चिट्ठाकारी ऐसे व्यक्ति द्वारा की जाती थी जो अंतर्जाल पृष्ठों का निर्माण या संचालन करना पहले से ही जानते थे। हालांकि हाल के वर्षों में अनेक चिट्ठा निर्माता उपकरण एवं बेवसाइटें आ गई हैं जो चिट्ठाकारी की सुविधा उपलब्ध कराती हैं। इनमें से कई सुविधाएं विज्ञापन आधारित निःशुल्क सुविधाएं हैं। इसने चिट्ठाकारी को आम लोगों के लिए सुलभ कर दिया है। अब, अंतर्जाल पहुँच वाला कोई भी व्यक्ति सहजता से अपना चिट्ठा बनाकर चिट्ठाकारी कर सकता है।

प्रकाशन विषय[संपादित करें]

चिट्ठाकारी का विषय और शैली चुनने के लिए चिट्ठाकार स्वतंत्र होता है। अपने बारे में लिखने सहित किसी भी विषय पर चिट्ठा प्रकाशित किया जा सकता है। अधिकांश चिट्ठाकारियाँ टिप्पणी, व्यक्तिगत नोट्स और अन्य अंतर्जाल पृष्ठों की कड़ियों का मिश्रण हैं। चिट्ठाकारी के रूप में गंभीर विषयों पर गहराई से निबंध लिखा जा सकता है। इसका उपयोग पत्रिका के रूप में किया जा सकता है। पिछली रात देखे गए चलचित्र या किसी कार्य के नए तरीके भी चिट्ठाकारी के विषय हो सकते हैं। चिट्ठाकारी के अंतर्गत ग्राफिक्स, वीडियो और ध्वनि फ़ाइलों को अपलोड कर चिट्ठों के रूप में प्रकाशित करना भी शामिल है। चिट्ठों में पाठकों की रुचि वाले या विषय से संबंधित अन्य अंतर्जाल पृष्ठों की कड़ियाँ भी रह सकती हैं। चिट्ठाकारी में वार्तालाप भी रखा जा सकता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]