चार्ल्स शेफर्ड

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
1866 में चार्ल्स शेफर्ड द्वारा खींची गयी जमरूद किले पर अफ़रीदियों की तस्वीर

चार्ल्स शेफर्ड (fl. 1858-1878) एक अंग्रेजी छायाकार (फोटोग्राफर) और मुद्रक (प्रिंटर) थे जिन्होने 19 वें शताब्दी के उत्तरार्ध में भारत में काम किया था। उनके द्वारा ली गयी तस्वीरों में अंग्रेजी और भारतीय दोनो के ही सैनिकों और नागरिकों के दृश्य शामिल हैं।

शेफर्ड ने सन 1862 में आर्थर रॉबर्टसन के साथ मिलकर आगरा में शेफर्ड एंड रॉबर्टसन नामक एक फोटो स्टूडियो की स्थापना की थी। यह स्टूडियो सन 1864 में शिमला स्थानांतरित हो गया और इस समय सैमुअल बॉर्न भी शेफर्ड के व्यवसाय में प्रमुख फोटोग्राफर के रूप में शामिल हो गये और कंपनी का नाम बदलकर हावर्ड, शेफर्ड एंड बॉर्न कर दिया गया। सन 1868 के आसपास हावर्ड के जाने के बाद कंपनी का नाम सिर्फ शेफर्ड एंड बॉर्न कर दिया गया।[1] शेफर्ड एंड बॉर्न की दूसरी शाखा कलकत्ता (अब कोलकाता) में खोली, जहां वो एक पोर्ट्रेट स्टूडियो चलाते थे, और यहां से उनके काम को व्यापक रूप से उपमहाद्वीप में अभिकर्ताओं और ब्रिटेन में थोक वितरकों के माध्यम से बेचा जाता था। [2]

1870 में बॉर्न इंग्लैंड लौट गये, लेकिन फर्म का काम जारी रहा,[1][3] और सन 1872 में बॉर्न की जगह कॉलिन मरे कंपनी के प्रमुख छायाकार बन गये।[3]


शेफर्ड जिन्होने मुख्य रूप से मुद्रक या चित्र छापने का काम किया था, 1885 में कंपनी से अलग हो गये, लेकिन कोलकाता में बॉर्न एंड शेफर्ड का काम बदस्तूर जारी रहा।[3][मृत लिंक][4]

काम[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]