चलनिधि समायोजन सुविधा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

चलनिधि समायोजन सुविधा (Liquidity Adjustment Facility or LAF, अंग्रेज़ी में - लिक्विडिटी एडजस्टमेंट फैसिलिटी)[1] भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा बैंकों को दी गई एक सुविधा है। यह मौद्रिक नीति के क्रियान्वयन में प्रयुक्त किया जाने वाला एक प्रमुख टूल है।[2]

इसके अंतर्गत रेपो और रिवर्स रेपो आते हैं[2][3], जिनकी दरों पर नियंत्रण करके भारतीय रिज़र्व बैंक बाज़ार में उपलब्ध मुद्रा को नियंत्रित करता है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://chennairbi.rbi.org.in/BankingShabdavali/search.aspx?eng=Liquidity%20Adjustment%20Facility
  2. "मौद्रिक नीति 2013-14 की तीसरी तिमाही समीक्षा- डॉ॰ रघुराम जी. राजन, गवर्नर, भारतीय रिज़र्व बैंक का वक्‍तव्‍य". भारतीय रिज़र्व बैंक. 20 अप्रैल 2014. अभिगमन तिथि 20 अप्रैल 2014.
  3. http://rbi.org.in/Scripts/WSSView.aspx?Id=18942