चर्नोबिल परमाणु दुर्घटना

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
चर्नोबिल परमाणु दुर्घटना
267px
दुर्घटना के बाद परमाणु रिएक्टर; रिएक्टर ४ (मध्य में), टरबाइन भवन (बायें तरफ, नीचे), रिएक्टर ३ (दायें, मध्य में)।
तिथि 26 अप्रैल 1986 (1986-04-26) (31 years ago)
समय 01:23 (Moscow Time UTC+3)
स्थान Pripyat, Ukrainian SSR, Soviet Union
कारण Inadvertent explosion of core during emergency shutdown of reactor whilst undergoing power failure experiment
मौतें 31 (direct)

चर्नोबिल परमाणु दुर्घटना बहुत बड़े पैमाने की एक परमाणु दुर्घटना थी जो 26 अप्रैल 1986 को यूक्रेन (तत्कालीन सोवियत संघ) में स्थित चर्नोबिल परमाणु परमाणु ऊर्जा प्लांट में हुई थी।

चर्नोबिल आपदा (जिसे चेर्नोबिल दुर्घटना या बस चेर्नोबिल के रूप में भी जाना जाता है) एक भयावह परमाणु दुर्घटना थी जो कि प्रिप्यात शहर ( जो उस समय मे सोवियत संघ के यूक्रेनी सोवियत समाजवादी गणराज्य में स्थित था) के चेरनोबिल परमाणु ऊर्जा संयंत्र 26 अप्रैल 1986 में घटित हुई थी। एक धमाकेदार विस्फोट और आग से बहुत बड़ी मात्रा में रेडियोधर्मी कण पश्चिमी सोवियत संघ और यूरोप के अधिकांश हिस्सों में फैल गये थे|

चर्नोबिल आपदा लागत और हताहतों की संख्या के मामले में इतिहास में दर्ज़ हुई सबसे खराब परमाणु ऊर्जा संयंत्र दुर्घटना थी। [1] यह अंतर्राष्ट्रीय परमाणु घटना स्केल पर अब तक हुई उन दो घटनाओं में से एक है, जोकि स्तर 7 (अधिकतम वर्गीकरण) की घटना के रूप दर्ज़ है जबकि दूसरी घटना वर्ष 2011 में जापान में फुकुशिमा डायची परमाणु सयन्त्र में घटित हुई थी। [२] इस आपदा से होने वाले संदूषण को रोकने के लिए और बहुत बड़ी तबाही को टालने में 500,000 से अधिक श्रमिकों की जरूरत पड़ी और एक अनुमानित 18 अरब रूबल खर्च करने पड़े। [3] दुर्घटना के दौरान ही 31 लोगों की जान चली गयी और लम्बी अवधि तक रहने वाले प्रभाव जैसे की कैंसर की अभी भी जांच की जा रही है। [4]