चतुष्फलकीय अणु ज्यामिति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

साँचा:Infobox molecular geometry

चतुष्फलकीय अणु ज्यामिति (tetrahedral molecular geometry) में एक परमाणु चतुष्फलकी के 'केन्द्र' पर होता है और चार परमाणु चतुष्फलकी के चार शीर्शों पर होते हिं। यदि यह अणु पूर्णतः सममित हो तो इसमें बन्ध कोण का मान cos−1(−13) = 109.4712206...° ≈ 109.5° होता है (जैसे मिथेन में)[1][2]

चतुष्फलकीय ज्यामिति से युक्त अणु काइरलता (Chirality) का गुण प्रदर्शित कर सकते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Angle Between 2 Legs of a Tetrahedron". Maze5.net. मूल से 3 अक्तूबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जून 2020.
  2. Brittin, W. E. (1945). "Valence Angle of the Tetrahedral Carbon Atom". J. Chem. Educ. 22 (3): 145. डीओआइ:10.1021/ed022p145. बिबकोड:1945JChEd..22..145B.