चकोतरा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
चकोतरा
Citrus grandis - Honey White.jpg
वैज्ञानिक वर्गीकरण
जगत (रेगन्म): पादप
(अश्रेणिकृत डिवीज़न) सपुष्पक (Angiosperms)
(अश्रेणिकृत) युडिकॉट (Eudicots)
(अश्रेणिकृत) रोज़िड (Rosids)
गण (ऑर्डर): सैपेनडालेज़​ (Sapindales)
कुल (फैमिली): रूटासीए (Rutaceae)
वंश (जीनस): निम्बू-वंश (Citrus)
जाति: C. maxima
द्विपद नाम (बाईनोमिनल)
Citrus maxima
मेरिल

चकोतरा निम्बू-वंश का एक फल है, जो उस वंश की सबसे बड़ी जातियों में से एक है। हालांकि निम्बू-वंश के बहुत से फल दो या उस से अधिक जातियों के संकर (हाइब्रिड) होते हैं, चकोतरा एक शुद्ध प्राकृतिक जाति है। इसके कच्चे फल का रंग हरा, और पके हुए का हल्का हरा या फिर पीला होता है। पूरा बड़ा होने पर इसके फल का व्यास (डायामीटर) १५-२५ सेमी और वज़न १ से २ किलोग्राम होता है। इसके स्वाद में खटास और कुछ मीठापन तो होता है, लेकिन कड़वाहट नहीं। चकोतरा मूलतः भारतीय उपमहाद्वीप और दक्षिणपूर्वी एशिया क्षेत्र की जन्मी हुई जाति है।[1]

दवाओं के साथ लेने में ख़तरा[संपादित करें]

वैसे तो चकोतरा स्वस्थ व्यक्तियों के लिए लाभदायक माना जाता है, लेकिन चकोतरे के रस में कुछ ऐसे रसायन हैं जो कुछ दवाओं का असर को कम कर देते हैं या उनसे मिलकर शरीर में हानिकारक रासायनिक यौगिक बना देते हैं:

  • टैमोक्सिफ़ेन (Tamoxifen) - यह एक कर्क रोग (कैन्सर) की दवा है और चकोतरा खाने से इसके प्रभाव में कमी आ सकती है।[2]
  • स्टैटिन (Statin) - यह कई प्रकारों व नामों से बिकने वाली कोलेस्टेरॉल कम करने की औषधि है जिसे हृदय रोग से बचने के लिए लिया जाता है। चकोतरा इसका प्रभाव कम करता है। कुछ स्टैटिन दवाएँ ऐसी हैं जिनपर चकोतरे का कोई असर नहीं होता।
  • कोडीन (Codeine) - यह दर्द और भारी ख़ासी से राहत देने की दवा है जिसका पीढ़ा-विरोधी प्रभाव चकोतरे से कम हो जाता है।
  • पैरासिटामोल (Acetaminophen / paracetamol) - चकोतरा खाने से रक्त में पैरासिटामोल का संकेंद्रण (कान्सेन्ट्रेशन) बढ़ सकता है। यह यकृत (लीवर) के लिए हानिकारक हो सकता है।[3]
  • ऐम्लोडीपीन / ऐम्लोगार्ड (Amlodipine / Amlogard) - चकोतरे से इस दवा का रक्तचाप (ब्लड प्रेशर) कम करने का प्रभाव बिना चेतावनी के अचानक बढ़ सकता है, यानि रक्तचाप में अत्याधिक कमी आ सकती है।

यह कुछ ही दवाएँ हैं जिनपर चकोतरे का असर होता है। ऐसी और भी दवाएँ हैं जो इस सूची में शामिल नहीं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Growing the granddaddy of grapefruit," SFGate.com, December 25, 2004
  2. Beverage JN, Sissung TM, Sion AM, Danesi R, Figg WD (Sep 2007). "CYP2D6 polymorphisms and the impact on tamoxifen therapy". Journal of Pharmaceutical Sciences 96 (9): 2224–31. doi:10.1002/jps.20892. PMID 17518364.
  3. Dasgupta A, Reyes MA, Risin SA, Actor JK (December 2008). "Interaction of white and pink grapefruit juice with acetaminophen (paracetamol) in vivo in mice". Journal of Medicinal Food 11 (4): 795–8. doi:10.1089/jmf.2008.0059. PMID 19053875.