चंद्रदेव से मेरी बातें

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

राजेंद्र बाला घोष (बंग महिला) द्वारा लिखित 'चंद्रदेव से मेरी बातें' कहानी सर्वप्रथम 'सरस्वती' पत्रिका' में 1904 ई. में प्रकाशित हुई थी। प्रस्तुत कहानी पत्रात्मक शैली में लिखी गयी है तथा इसमें लार्डकर्जन को प्रतीकात्मक एवं व्यंग्यात्मक रूप में कही हुई बातों का वर्णन है। इस कहानी के केंद्र में 'अर्थनीति एवं राजनीति' है ।