चंदेनी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
चंदेनी
चंदाणी • Chandeni
—  गाँव  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य हरियाणा
ज़िला भिवानी
जनसंख्या 1,69,424
आधिकारिक भाषा(एँ) हरियाणवी, हिंदी
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)

• 225 मीटर (738 फी॰)

निर्देशांक: 28°28′29″N 76°07′31″E / 28.474605°N 76.125264°E / 28.474605; 76.125264 चंदेनी भिवानी जिले में मौजूद एक अत्यधिक प्रचलित ग्रामीण क्षेत्र है| यह ग्राम भारतीय थलसेना में किसी एक गाँव से सर्वाधिक सैनिक पैदा करने के लिये प्रसिद्ध है जो रिकॉर्ड लगभग बीस साल से अपरिवर्तित है| अरावली पर्वत श्रृंखला की एक शाखा इस गाँव के इलाकों को छूती हुई निकलती है| इसी श्रृंखला की एक पहाड़ी के समीप यह गाँव बसा है जहाँ भूवैज्ञानिकों ने ग्रेफाईट के स्रोत होने की पुष्टि की है|

रिकॉर्ड[संपादित करें]

भारतीय सेना में कुल सैनिकों की संख्या लगभग 11,00,000 सैनिक हैं, जिनमें से जाट रेजीमेंट की चौंतीस रेजिमेंट हैं| इन सभी में कुल सैनिकों की संख्या (शुदा-अफसर) का सर्वाधिक अंश चंदेनी गाँव को जाता है| यह जाट रेजिमेंट का लगभग दो प्रतिशत है तथा सम्पूर्ण भारतीय थल सेना का लगभग शून्य दशमलव एक प्रतिशत है| इस रिकॉर्ड का दूसरा हकदार भिवानी जिले का ही एक गाँव, हालुवास रहा है|

स्थापना[संपादित करें]

माना जाता है कि इस गाँव की स्थापना लगभग उन्नीस सौ दस ईस्वी के दशक में चंदा नाम की एक औरत के नाम पर पर हुई थी| यह औरत उस समय अपने पति और बाकी के परिवार के साथ बामला को छोड़ कर यहाँ आई थी| ये लोग वहाँ से किसी क़त्ल की घटना के पश्चात बचते बचाते पहुचे थे| यहाँ उन्होंने स्थायी ज़मीन का अधिग्रहण किया तथा लगभग पूरे गाँव की ज़मीन को चंदा ग्रेवाल ने बीस रुपये में खरीदा था|

स्थिति एवं मौसम[संपादित करें]

चंदेनी ग्राम की रेतीली ज़मीन की एक झलक

लोग[संपादित करें]

व्यवसाय[संपादित करें]

यहाँ के लोग मूल रूप से खेती करते हैं। परन्तु इन लोगों में सेना में भारती होने का एक गहरा लगाव देखा गया है। गाँव के लगभग नब्बे प्रतिशत पुरुष अपने जीवन में कभी ना कभी भारतीय सेना का हिस्सा रह चुके हैं| लगभग हर घर में कोई ना कोई पुरुष भारतीय सशस्‍त्र सेनाओं (थल, जल अथवा वायु) में कार्यरत् है अथवा सेवानिवृत्त हो चुका है।

फ़सल[संपादित करें]

शुष्क ज़मीन होने की वजह से यहाँ जल स्तर बहुत नीचे है| गाँव में से एक नहर भी गुज़रती है जो लगभग पन्द्रह सालों से सूखी पड़ी है| अतः यहाँ के लोग भूमिगत पानी की मोटर लगाते हैं जो गहरे-गहरे कूओं में उतारी जाती हैं| इन कूओं की गहराई लगभग दो सौ फीट तक जाति है| यहाँ की मुख्य फ़सल हैं बाजरा, गेहूं, ज्वार और चना|

विशिष्ट व्यक्ति[संपादित करें]

  • अमर सिंह अहलावत - IFS, MP
  • अत्तर सिंह अहलावत - IPS, Haryana
  • Col. हरपत सिंह अहलावत
  • Dr. विजेता ग्रेवाल -MBBS, ACDS, New Delhi[1][2][3]

स्रोत[संपादित करें]

  1. "ग्रेवाल समुदाय के माननीय लोगों की सूची में विजेता ग्रेवाल". मूल से 16 मई 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 नवंबर 2011.
  2. "हरियाणा पी एम् टी के सर्वोच्च छः चिकित्सा के छात्र/छात्राओं में विजेता ग्रेवाल को दर्शाती PDF file, सरकारी दस्तावेज" (PDF). मूल (PDF) से 27 जून 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 नवंबर 2011.
  3. "2008 Batch of MBBS course for ACMS, Delhi, सरकारी दस्तावेज़" (PDF). मूल से 2 दिसंबर 2011 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 23 नवंबर 2011.