घाटे की वित्त व्यवस्था

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यदि किसी अवधि में व्यय, संप्राप्ति (रिवेन्यू) से अधिक हो तो इसे घाटे की वित्त व्यवस्था (Deficit financing) या घाटे का बजट (deficit budget) कहते हैं, तथा व्यय और संप्राप्ति के अन्तर को घाटा या बजट घाटा (budget deficit) कहते हैं। 'घाटे के बजट' का विलोम 'बचत का बजट" (surplus budget) तथा 'बजट घाटा' का विलोम 'बजट अधिक्य' (budget surplus) है। घाटे/बचत की वित्त व्यवस्था किसी सरकार की हो सकती है, किसी निजी कम्पनी की, या किसी व्यक्ति की

अर्थशास्त्र में घाटे की वित्त व्यवस्था एक विवादास्पद विषय है जिसके लाभ/हानि पर विद्वानों के अलग-अलग विचार हैं।