गोआ क्रान्ति दिवस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

१८ जून को प्रति वर्ष गोवा क्रांति दिवस (Goa revolution day) के रूप में मनाया जाता है। क्योंकि १८-०६-१९४६ को डॉक्टर राम मनोहर लोहिया ने गोवा के लोगों को पुर्तगालियों के ख़िलाफ़ आवाज उठाने के लिए प्रेरित किया। १८ जून गोवा की आजादी की लडाई के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों से लिखा गया है। १८ जून १९४६ को डॉक्टर राम मनोहर लोहिया जी ने गोवा के लोगों को एकजुट होने और पुर्तगाली शासन के ख़िलाफ़ लड़ने का संदेश दिया था। १८ जून को हुई इस क्रांति के जोशीले भाषण ने आजादी की लड़ाई को मजबूत किया और आगे बढाया।

गोवा की मुक्ति के लिये एक लम्बा आन्दोलन चला। अन्ततः19 दिसम्बर 1961 को भारतीय सेना ने यहाँ आक्रमण कर इस क्षेत्र को पुर्तगाली आधिपत्य से मुक्त करवाया और गोवा को भारत में शामिल कर लिया गया।