गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

[1]

गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग[संपादित करें]

Gastroesophageal reflux barium X-ray

गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग(GERD), गैस्ट्रो-एसोफेगल प्रतिवाह रोग(GORD),स्ट्रिक प्रतिवाह रोग, या एसिड प्रतिवाह रोग एक बल्गम नुक्सान का जीर्न लक्शण है जो पेट के क्षेत्र से अन्नप्रणाली मे आता है। 'गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग (Gastroesophageal reflux disease) आमतोर पर पेट और अन्नप्रणाली के बीच बाधा के परिवर्तन कारण होता हे, सात ही असामान्य निछ्ले अन्नप्रणाली धबानेवाला यन्त्र (lower esophageal sphincter), के कारण, सामन्य रूप से ॥। पेट को रखती हे, बिगदा निष्कासन का कारण पेट का प्रतीवाह है। एलज आमतौर पर जीवन शैली की और औषधि - प्रायोग जैसै प्रोतोन पुम्प ब्लोच्केर्स (proton pump blockers), H2 रेचीप्तोर्स ब्लोच्केर्स् (H2 receptors blockers) या अन्ताचिद्स (antacids) साथ य बिना अलागिनिक अचिद्स (alginic acid)। शल्य - चिकित्सा एक और वेकल्प है जिन्है औषधि ना काम कर रहा है। पश्छेमी देश मे १०% - २०% की आबदी प्रभावीत है।

संकेत और लक्षण (sign and symptoms)[संपादित करें]

वयस्क व्यकती (adults)[संपादित करें]

'गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग का सबसै आम लक्षण है।

  1. कलैजै की जलन (Heartburn)
  2. आशीक भोजन का पेट से मूहा को आना। (Regurgitation)

कम - आम लक्षण मै शामिल है।

  1. नीगालने के साथ दर्द क एह्सास
  2. वृद्धि हुए लार (Increased salivation)
  3. मतली (Nausea)
  4. सीना क दर्द (Chest pain)
  5. खसी

'गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग कभी - कभी घुटकी मे चोट बनता है। इन चोटै मे शमिल है।

  1. गल जाना (necrosis)
  2. घुटकी नली क सनचान (Esophageal strictures)
  3. बर्रेत की घुटकी (Barrett's esophagus)
  4. घुटकी नामी क कन्सार (Esophageal adenocarcinoma)

कुछ लोग प्रस्तवीत लक्षान जैसै शिरानालशोथ, बारम्बार कान सन्क्रमन, यह सब गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग के कारण है। हालाकी एक प्रशन्न भूमीका स्थपीत है।

बच्चे (childrens)[संपादित करें]

गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग शीशुओ और बच्चो मे पता लगना मुशकिल है। क्योकी वो वर्न नही कर सकतै की वह क्या मह्सूस कर रहे है सथही सनकेत्क को देख जाना चाहीऐ। लक्षन एक ठेठ वयस्क व्यक्ती से बदाल सकता है। गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग, बच्चे मे उल्टी, खाँसी, सरल थूकना, जैसे घरघराहट, सांस की अन्य समस्याओं, बुरा सांस और डकार, वेफल्ता वजान, गम्गीन रोना, भोजान मना कर्ना फिर भोजान के लिया रोना और बोतल य स्तन ख्न्छना सिर्फ रोन क लिऐ। बच्चै मे एक य कई लक्षन के साथ एक बच्चे मे है जो गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग सम्पादन से पीदीत है।

हर साल अमेरिका मे ४लाख बच्चै मे से ३५% बच्चै को प्रतीवाह की कठिनाइयों है जो जानम के कुछ महिनओ मे होत है। एक सिद्धांत है वह है "चौथी तिमाही के सिद्धांत" उस्से जन्वरो पैदा होना मेहथ्वपुरन मतीशील्था है। लकिन मनुश्या अपीशेकता लचार है और कहा कर्ता है के चौथी तिमाही के सिद्धां है सक्ती है। मगर बच्चे पहले जन्म लेने लगे। बदे दीमाग और सर के वीकास को सम्झोता करने के लिए पछने वाला यंत्र चुका जाता है।

ज्यदतर बच्चाए पेहले साल के अन्तर मे प्रतेवाह छोड़ जाता है, हालाकी कुछ लोग का प्रातीवाह रोग नही छोउता है। यह सछ है जिन को गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग परम्परिक से मोजुद है उन के बच्चे भि इस से पीदीत होते है।

कारणों (causes)[संपादित करें]

गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग(GERD) का मुख्या रूप से निचले घुटकी दबानेवाला यंत्र विफलता के वजाह से है। स्वस्थ रोगियों में, "उनकी कोण"- पेट और घेघा के कोण मे एक वाल्व होता है जो बचाता ग्रहणी पित्त (duodenal bile), एंजाइमों (enzymes), और पेट में एसिड (stomach acid) घेघा में जाना से बचाता है। जहां वे संवेदनशील घेघा ऊतकों मे जलने और सूजन पैदा कर सकता है।

गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग को योगदान के करणों :-

  1. हायादल हर्निया, जो संभावना बढ़ाता है, यांत्रिक (mechanical) और गतिशीलता (motility) कारकों
  2. मोटापा: एक बड़ी श्रृंखला में २००० रोगियों को रोगसूचक भाटा रोग यह देखा गाया है। की १३% घेघा एसिड जोखिम परिवर्तन शरीर द्रव्यमान सूचकांक (body mass index) के परिवर्तन के कारण है।
  3. दवाओं के उपयोग जैसै प्रेडनिसोलोन
  4. अतिकैल्शियमरक्तता (Hypercalcemia) - गैस्ट्रीन उत्पादन बढ़ा सकते है, वृद्धि अम्लता को भी अग्रणी कर्ता है।

गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग (GERD) सांस और लर्यिजीयाम शिकायतों से जोड़ा गया जेसे गलत बैठ (laryngitis), पुरानी खांसी, फेफड़े के तंतुमयता, कान का दर्द और अस्थमा, जब चिकित्सकीय स्पष्ट नहीं किया गया। गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग के इन असामान्य अभिव्यक्तियों सामान्यतः के रूप में जाना जाता है लारीनजोफारीजीयाल प्रातीवाह रोग (laryngopharyngeal reflux) या इक्ष्तराइसोफएजीयल प्रातीवाह रोग (extraesophageal reflux disease)

गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग के साथ जोड़ा गाया पर निर्णायक रूप से नहीं:-
  1. ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया
  2. पित्त पथरी, ग्रहणी में पित्त के प्रवाह को बाधित कर सकते हैं।

1999 में, मौजूदा अध्ययनों की समीक्षा औसत पर, ४०% रोगियों को एच. पाइलोरी (H. pylori) संक्रमण था। एच. पाइलोरी (H. pylori) उन्मूलन लिए नेतृत्व एसिड स्राव वृद्धि कर साकता है।

निदान (Diagnosis)[संपादित करें]

गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग आमतौर पर निदान मौजूद विशिष्ट लक्षण से पाता किया जाता है, प्रतिवाह के लक्षणों लोगों कभी नही देखाते है और निदान मे दोनो जटिलताओं या लक्षणों और सामग्री पेट का प्रतिवाह मोजुदगी होनी चहियै। अन्य जांच ईसोफागोगस्त्रोदेउओदीनोसकोपी (esophagogastroduodenoscopy) शामिल हो सकते हैं गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग के निदान के लिए वर्तमान के मानक भाटा (esophageal) पीएच निगरानी कर सकते है।

अंत: दर्शन (Endoscopy)[संपादित करें]

Peptic stricture

एक फाइबर ऑप्टिक गुंजाइश के साथ पेट में देखा जाता है, यह अंत: दर्शन नियमित तौर पर जरूरत नहीं है आगर वह इलाज के लिए जवाब दे। यह सिफारिश की है जो इलाज के लिये अच्छी तरह से प्रतिक्रिया ना दे और बोहुत से लक्षण देखै सहित निगलने में कठिनाई, एनीमिया, मल में रक्त (रासायनिक का पता चला), घरघराहट, वजन घटाने, या आवाज में परिवर्तन कुछ चिकित्सकों एक जीवनकाल में या ५ या १० वार्षिक एंडोस्कोपी कार्ते है गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग रोगियों को किया जाता है। मूल्यांकन करने के बर्र्र्रीद् घुटकी (Barrett esophageal) या दैसप्लासिअ (dysplasia) की संभावित उपस्थिति हो सक्कति है। गासत्रोसकोपी (Gastroscopy) दौरान प्रदर्शन बायोप्सी हैं:

  1. लीमफोसेतेइक (Lymphocytic) सूजन (अविशिष्ट)
  2. शोफ और बेसल हैपेर्र्प्लसैइय (अविशिष्ट भड़काऊ परिवर्तन)
  3. नीयुओतरोफीलिचक सूजन (आमतौर पर कारण भाटा या हेलिकोबैक्टर गासथीरेख के लिए)
  4. पापीमलाए के बढ़ाव
  5. स्क्वैमस सेल परत के पतला होना
  6. दयसपलासीया (Dysplasia)
  7. कार्सिनोमा

भाटा परिवर्तन कटाव के प्रकृति क नही है। अग्रणी है नाकटाव परिवर्तन भाटा रोग

विभेदक निदान (Differential diagnosis)[संपादित करें]

अन्य कारणों जैसे हृदय रोग और् सीने में दर्द निदान कर्ना से पहाले खारिज किया जाना चाहिए। एक अन्य प्रकार का एसिड भाटा जो सांस और लरीनजीयाल संकेत और लक्षण जीसे लरीनजीयैफरेइजीयाल प्रतीवाह कहा जाता है।

उपचार (Treatment)[संपादित करें]

गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग के लिए उपचार जीवन शैली संशोधनों, दवाओं और संभवतः सर्जरी शामिल हैं।

जीवन शैली (Lifestyle)[संपादित करें]

कुछ खाद्य पदार्थों और जीवन शैली भाटा बढ़ावा देना छाहीए। हालांकि अधिकांश आहार हस्तक्षेप थोड़ा साक्ष्य का समर्थन किया है। वजन में कमी आम तौर पर उपयोगी हैं। संयमी व्यायाम लक्षणों में सुधार लाता है। रोक धूम्रपान और शराब नहीं पीने के लक्षणों में महत्वपूर्ण सुधार में परिणाम नहीं दिखाई देते हैं। खाद्य शामिल किया गया है : कॉफी, शराब, चॉकलेट, वसायुक्त खाद्य पदार्थों, अम्लीय खाद्य पदार्थ और मसालेदार खाद्य पदार्थ।

दवाएं (Medications)[संपादित करें]

गैस्ट्रोएसोफेगल प्रतिवाह रोग के लिए इस्तेमाल किया प्राथमिक दवाओं प्रोटॉन पंप इन्हीबीतर्, H2 रिसेप्टर ब्लॉकर्स और साथ या आल्जनीक एसिड के साथ् या बीना आन्तासीद्स् हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Gastroesophageal reflux disease on the Open Directory Project