गैलिक के युद्ध

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search


गैलिक के युद्ध
Siege-alesia-vercingetorix-jules-cesar.jpg
वेर्किंगटोरिक्स द्वारा, "1899, जूलियस सीजर के चरणों में अपने हथियार नीचे फेंकता लियोनेल नोएल रोयेर
तिथि 58–50 पूर्व
स्थान फ्रांसीसी, जर्मनी, और रोमन ब्रिटेन
परिणाम रोमन विजयी रहे
क्षेत्रीय
बदलाव
रोमन गणराज्य
योद्धा
रोमन
शक्ति/क्षमता
1,20,000:
60,000 लीजन के फ़ौज
60,000 सहायक
3,00,000+ सैनिक

(मुख्यतः अनियमित)

मृत्यु एवं हानि
30,000+ मौत,
10,000+ घायल
लगभग 10,00,000 लोग मारे गए, जिसमें मुख्य रूप से आम नागरिक थे।

आधुनिक अनुमान के अनुसार लाखों लोग मारे गए।

गैलिक के युद्ध रोमन द्वारा गैलिक जनजातियों के खिलाफ रोमन राज्यपाल जुलियस सीसर के नेतृत्व में छेड़ा गया सैन्य अभियानों की एक श्रृंखला था, जो रोमन के विजय के साथ समाप्त हुआ। वेर्किंगटोरिक्स ने सभी को रोमन के खिलाफ एकजुट करने की कोशिश की, लेकिन उसमें बहुत देरी हो चुकी थी। यह युद्ध जुलियस सीसर के लिए पूरे रोमन गणराज्य का अकेला शासक बनने का मार्ग पक्का कर दिया था।[1][2]

राजनीतिक पृष्ठभूमि[संपादित करें]

क्रम[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "France: The Roman conquest". Encyclopædia Britannica Online. Encyclopædia Britannica (company). अभिगमन तिथि April 6, 2015. Because of chronic internal rivalries, Gallic resistance was easily broken, though Vercingetorix’s Great Rebellion of 52 bce had notable successes.
  2. "Julius Caesar: The first triumvirate and the conquest of Gaul". Encyclopædia Britannica Online. Encyclopædia Britannica (company). अभिगमन तिथि February 15, 2015. Indeed, the Gallic cavalry was probably superior to the Roman, horseman for horseman. Rome’s military superiority lay in its mastery of strategy, tactics, discipline, and military engineering. In Gaul, Rome also had the advantage of being able to deal separately with dozens of relatively small, independent, and uncooperative states. Caesar conquered these piecemeal, and the concerted attempt made by a number of them in 52 bce to shake off the Roman yoke came too late.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]