गृहनंदन सिंह

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

गृहनंदन सिंह (18 फरवरी 1926, ब्रिटिश भारत - 7 दिसंबर 2014 को नई दिल्ली, भारत) एक भारतीय हॉकी खिलाड़ी थे। वह 1948 और 1952 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में स्वर्ण पदक विजेता भारतीय हॉकी टीम के सदस्य थे।[1] खेलों में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए उन्हें 2006 में ध्यानचंद पुरूस्कार से सम्मानित किया गया।

आरंभिक जीवन[संपादित करें]

गृहनंदन का जन्म अविभाजित पंजाब के लायपुर जिले में 18 फरबरी 1926 को हुआ। आजादी से पहले, वे 1943 से वर्ष 1946 के बीच अविभाजित पंजाब विश्वविद्यालय के लिए खेलते थे. आजादी के बाद वे कोलकाता चले गए।[2]

सेना में सेवाएं[संपादित करें]

गृहनंदन 1949 में भारतीय नौसेना से जुड़े। उनके योगदान के लिए भारतीय नौसेना ने उन्हें परम विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया। वे कमांडर के पद से सेवानिवृत्त हुए।

संदर्भ[संपादित करें]


  1. "Grahanandan SINGH - Olympic Hockey | India". International Olympic Committee (अंग्रेज़ी में). 2016-06-11. अभिगमन तिथि 2019-12-15.
  2. "हॉकी ओलंपियन गृहनंदन सिंह का 88 वर्ष की आयु में निधन". Jagranjosh.com. 2014-12-09. अभिगमन तिथि 2019-12-15.