सामग्री पर जाएँ

गुरजोत सिंह कलेर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
गुरजोत सिंह कलेर
जन्म मोहाली, पंजाब, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
शिक्षा की जगह पंजाब विश्वविद्यालय
पेशा IPS अधिकारी, लेखक, गायक
संगठन भारतीय पुलिस सेवा

गुरजोत सिंह कलेर एक भारतीय पुलिस अधिकारी, लेखक और गायक हैं, जो 2018 में प्रकाशित एक बेस्ट सेलिंग पुस्तक, न्यू इंडिया - द रियलिटी रीलोडेड के लेखक हैं।[1][2] वह पंजाब पुलिस में पुलिस अधीक्षक (एसपी) के रूप में सेवारत हैं और वर्तमान में, वे यूनाइटेड किंगडम में डिजिटल पुलिसिंग के क्षेत्र में 'एवन एवं समरसेट पुलिस बल' के साथ काम कर रहे हैं।[3]

उन्होंने कई गानों के लिए आवाज दी है, जिनमे माय हीरो फ़ार्मर[4][5],दिल से सलाम[6], बंदेया आदि शामिल है जिसे टाइम्स म्यूजिक ने जारी किया है।

प्रारंभिक जीवन और शिक्षा[संपादित करें]

गुरजोत का जन्म और पालन-पोषण चंडीगढ़, भारत में हुआ। उन्होंने पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़ से मनोविज्ञान में स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की है। इन्होने पुलिस एडमिनिस्ट्रेशन में परास्नातक भी किया हैं।[2][7]

2012 में पंजाब लोक सेवा आयोग की परीक्षा उत्तीर्ण की और उन्हें उप पुलिस अधीक्षक (DSP) के रूप में नियुक्त किये गए। उन्होंने पंजाब पुलिस की खुफिया शाखा में भी कार्य किया है।[8]

करियर[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

सितंबर 2016 में, कलेर ने अपने संगीत करियर की शुरुआत माय हीरो फ़ार्मर[9] के साथ की, जिसने भारत में किसानों की कठोर वास्तविकताओं को दर्शाया।[10] उनके इस गाने को खूब सराहना मिली। मार्च 2017 में माय हीरो फ़ार्मर को पीटीसी पर रिलीज़ किया गया और सिख लेंस फिल्म फेस्टिवल, कैलिफ़ोर्निया में भी प्रदर्शित किया गया था।[4]

अगस्त 2020 में, उनका दूसरा गाना, दिल से सलाम को टाइम्स म्यूजिक द्वारा स्पीड रिकॉर्ड्स के लेबल के तहत जारी किया गया था।[11] दिल से सलाम भारतीय सैनिकों के लिए एक श्रद्धांजलि थी[12], और जिसे स्वयं गुरजोत ने लिखा और गाया, जबकि संगीत जैसन थिंड ने दिया।[6] इसके बाद टाइम्स म्यूजिक और स्पीड रिकॉर्ड्स के लेबल द्वारा, बंदेया शीर्षक से अपना एक और गाना जारी किया।[3][13] सितंबर 2020 तक यूट्यूब पर इसे 3. 1 मिलियन व्यूज मिले।[14]

प्रकाशित पुस्तकें[संपादित करें]

इनकी पहली पुस्तक, न्यू इंडिया-द रियलिटी रीलोडेड - को सितंबर 2018 में लॉन्च किया गया था। इस पुस्तक में कलेर ने भारत के सामने आने वाली विभिन्न चिंताओं, संघर्षों और चुनौतियों पर शोध किया है और उन्हें परिप्रेक्ष्य में रखा है।[2] इस पुस्तक की समीक्षा विभिन्न प्रमुख लेखकों ने की है जिसमें रस्किन बॉन्ड, शोभा डे, इंडिया टुडे के राजदीप सरदेसाई[11] और एनडीटीवी इंडिया के रवीश कुमार शामिल हैं।[15]

अन्य कार्य[संपादित करें]

मई 2019 में उन्होंने हिमालय की मचाधार श्रेणी के हुरो पर्वत पर चढ़ाई की, जो 14,500 फीट की ऊंचाई पर स्थित है।[16]

जून 2020 में, कलेर ने सेंट्रल लंदन के वेस्टमिंस्टर शहर के ट्राफलगर स्क्वायर में कुछ भारतीयों के साथ एक शांतिपूर्ण मार्च किया। उन्होंने हेनरी हैवलॉक और रॉबर्ट क्लाइव की प्रतिमा हटाने की मांग की और नस्लीय भेदभाव के खिलाफ आवाज उठाई।[17] ब्रिटेन सरकार के साथ एक याचिका भी दायर की गई थी।[18]

उन्होंने सितंबर 2020 में कोरोना योद्धाओं को सलामी देने के लिए 15,000 फीट का स्काईडाइव किया।[19][20]

सम्मान एवं पुरस्कार[संपादित करें]

2018 में गुरजोत सिंह कलेर को पंजाब सरकार द्वारा उनके सराहनीय सेवाओं के लिए राज्य पुलिस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।[21] इसके अलावा, उन्हें नई दिल्ली में फेडरेशन ऑफ इंडियन चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (FICCI) द्वारा दो बार स्मार्ट पोलिसिंग अवार्ड से सम्मानित किया गया।[22] उन्हें पंजाब पुलिस ने पुलिस महानिदेशक डिस्क्स से तीन बार सम्मानित किया गया है।[21]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. सिंह, जैस्मिन (अगस्त 12, 2018). "As real as it gets". द ट्रिब्यून (चंडीगढ़).
  2. "Punjab Police Officer Authors Book On Country Problems, Offers Solutions". एनडीटीवी इंडिया. सितम्बर 5, 2018.
  3. "Superintendent of Punjab Police, Gurjot S Kaler's latest track 'Bandeya' by B Praak and Jaani highlights an important issue". सिलिकॉन इंडिया. अगस्त 10, 2020.
  4. सिंह, नोनिका (मार्च 1, 2017). "Cop star!". द ट्रिब्यून (चंडीगढ़).
  5. दत्त, निरुपमा (मार्च 4, 2017). "Give life a second chance". हिंदुस्तान टाइम्स.
  6. धलवाल, शीतल (अगस्त 11, 2019). "The song of freedom". द ट्रिब्यून .
  7. "Young Punjab Police officer authors challenges, solutions to country's problems". बिज़नेस स्टैन्डर्ड. सितम्बर 5, 2018.
  8. सिंह, जगदीप (अक्टूबर 29, 2018). "The Monday interview: 'Unless we educate and make the community aware, rising crime cannot be curtailed'". इंडियन एक्सप्रेस.
  9. Kumar, Jyoti (अक्टूबर 26, 2017). "DSP का वीडियो हो रहा है वायरल, अबतक 3 लाख से ज्यादा बार देखा गया" (अंग्रेजी में). राजस्थान पत्रिका. मूल से 21 जनवरी 2021 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जनवरी 2021.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  10. Singh, Jasmine (नवम्बर 6, 2017). "Cashing in on violence". द ट्रिब्यून (चंडीगढ़).
  11. Kaur, Lajwinder (अगस्त 12, 2019). "ਦੇਸ਼ ਪਿਆਰ ਤੇ ਸੈਨਿਕਾਂ ਦੀ ਵੀਰਤਾ ਨੂੰ ਸਲਾਮ ਕਰਦਾ ਗੁਰਜੋਤ ਸਿੰਘ ਕਲੇਰ ਦਾ ਨਵਾਂ ਗੀਤ 'ਦਿਲ ਸੇ ਸਲਾਮ' ਹੋਇਆ ਰਿਲੀਜ਼" (पंजाबी में). पीटीसी पंजाबी.
  12. कौर, लज्विंदर (अगस्त 21, 2020). "ਮਿਲੋ DSP ਗੁਰਜੋਤ ਸਿੰਘ ਕਲੇਰ ਨੂੰ ਜਿਹੜੇ ਆਪਣੀ ਗਾਇਕੀ ਦੇ ਨਾਲ ਜਿੱਤ ਰਹੇ ਨੇ ਸਭ ਦਾ ਦਿਲ, ਦੇਖੋ ਪੀਟੀਸੀ ਪੰਜਾਬੀ ਨਾਲ ਖ਼ਾਸ ਮੁਲਾਕਾਤ" (पंजाबी में). पीटीसी पंजाबी.
  13. "Bandeya: Superintendent of Punjab Police Gurjot S Kaler's latest track is an emotional melody". त्म. अगस्त 11, 2020.
  14. अग्निहोत्री, आरती एम. "पंजाब पुलिस के एसपी ने बूढ़े माता-पिता के लिए बनाया भावनात्मक गाना, यू ट्यूब पर 5 दिन में मिले 3 मिलियन व्यू". दैनिक भास्कर.
  15. "Man in khaki with literary mind". मेल टुडे. अक्टूबर 16, 2018.
  16. "Punjab DSP Kaler scales Hurro Mountain of Machaadhar Range". पायनियर. मई 23, 2019.
  17. "भारतीय पुलिस में डीएसपी ने लंदन में नस्लीय भेदभाव के खिलाफ उठाई आवाज, निकाला मार्च". अमर उजाला. जून 16, 2020.
  18. "Punjab Police DSP Gurjot Singh Kaler raises voice against Racial Discrimination -Petition started with UK government". नेशन न्यूज़. जून 16, 2020. मूल से 20 अक्तूबर 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जनवरी 2021.
  19. Nath, Rajan (सितम्बर 17, 2020). "Punjab Police officer performs 15,000 feet skydive to salute corona warriors". पीटीसी न्यूज़.
  20. "कोरोना नायकों के लिए एसपी ने कर दिखाया जोखिम भरा कारनामा, 15 हजार फीट की ऊंचाई से". अमर उजाला. सितम्बर 18, 2020.
  21. "Gurjot Singh Kaler Bio". Punjabicelebrities. अभिगमन तिथि 12 जनवरी 2021.
  22. "Punjab gets FICCI Smart Policing Award". टाइम्स ऑफ़ इंडिया. जून 1, 2018.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]