गुजरात शैली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यह एक प्रमुख भारतीय चित्रकला शैली हैं।

गुर्जर या गुजरात शैली के नाम से अभिहित की जाने वाली चित्रकला की इस शैली में पर्वत, नदी, सागर, पृथ्वी, अग्रि, बादल, क्षितिज, वृक्ष आदि विशेषरूप से बनाये गये हैं। गुजरात चित्रकला शैली के चित्रों की प्राप्ति मारवाड़, अहमदनगर, मालवा, जौनपुर, अवध, पंजाब, नेपाल, उड़ीसा, तक होती है। जिससे सिद्ध होता है कि इसका प्रभाव क्षेत्र काफ़ी विस्तृत था। गुजरात चित्रकला शैली से राजपूत चित्रकला शैली का विकास हुआ है। इस शैली में 'राम-माला' के भी चित्रों का चित्रांकन किया गया है। मुग़ल सम्राट अकबर के समय के चित्र भी इस शैली से प्रभावित है। गुजरात चित्रकला शैली को प्रकाश में लाने का श्रेय डॉ. आनन्द कुमार स्वामी (1924) को जाता है।