गुजराती साहित्य परिषद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
गुजराती साहित्य परिषद
Gujarati Sahitya Parishad logo.jpg
स्थापना 1905
अध्यक्ष प्रकाश एन शाह
स्थान अहमदाबाद, भारत (23°02′02″N 72°34′16″E / 23.0339°N 72.5710°E / 23.0339; 72.5710निर्देशांक: 23°02′02″N 72°34′16″E / 23.0339°N 72.5710°E / 23.0339; 72.5710)
जालस्थल www.gujaratisahityaparishad.com
गुजराती साहित्य परिषद का भवन

गुजराती साहित्य परिषद गुजराती साहित्य के प्रचार समर्पित एक साहित्यिक संगठन है। इसकी स्थापना रणजीतराम महेता ने समाज के सभी वर्गों के लिए साहित्य सृजन और लोगों में साहित्यिक भावना पैदा करने के उद्देश्य से की थी। महात्मा गांधी और कन्हैयालाल मुंशी सहित कई प्रमुख लोगों ने संगठन की अध्यक्षता की है। इसका मुख्यालय अहमदाबाद (गुजरात) में आश्रम मार्ग पर स्थित है, जिसे 'गोवर्धन भवन' के नाम से जाना जाता है। इसमें एक संगोष्ठी हॉल और पुस्तकालय हैं।

'परब', गुजराती साहित्य परिषद की मासिक पत्रिका है और हर महीने की 10 तारीख को प्रकाशित होती है। [1]

रामनारायण वी पाठक सभागार

अध्यक्ष[संपादित करें]

चिमनलाल मंगलदास पुस्तकालय
अध्यक्ष नगर वर्ष
प्रकाश एन शाह[2] 2020
सीतांशु यशश्चंद्र सिकंदराबाद 2018
चंद्रकांत टोपीवाला भुज 2016
धीरू परीख[3] आणंद 2014
वर्षा एम. अडालजा[4] अहमदाबाद 2012
भोलाभाई पटेल जूनागढ़ 2011
भगवती कुमार शर्मा सूरत 2009
नारायण देसाई अहमदाबाद 2007
कुमारपाल देसाई अहमदाबाद 2006
बाकुल त्रिपाठी मुम्बई 2005
धीरूबेन पटेल महुवा, भावनगर 2003
रघुवीर चौधरी पाटण 2001
धीरूभाई ठाकर विसनगर 1999
निरंजन भगत वड़ोदरा 1997
विनोद भट्ट जामनगर 1995
राजेन्द्र शाह कोलकाता 1993
एन. के. पंड्या उषनस कोयंबटूर 1991
जयंत पाठक राजकोट 1989
भोगीलाल सन्देशरा मुम्बई 1987
केशवराम काशीराम शास्त्री पुणे 1985
यशवन्त शुक्ल सूरत 1983
मनुभाई पाँचोली हैदराबाद 1981
अनंतराय एम. रावल वडोदरा 1979
चन्द्रवदन मेहता 1978
रामप्रसाद बक्षी पोरबन्दर 1976
गुलाबदास ब्रोकर वल्लभ 1974
Jhinabhai Desai 'Sneharasmi' Chennai 1972
Tribhuvandas Luhar 'Sundaram' Junagadh 1970
Umashankar Joshi Delhi 1968
Jyotindra Dave Surat 1966
Rasiklal Parikh Mumbai 1964
Vishnuprasad Trivedi Kolkata 1961
Kaka Kalelkar Ahmedabad 1959
Kanaiyalal M. Munshi Nadiad 1955
Harasidhdhabhai V. Divetiya Navsari 1952
Kanaiyalal M. Munshi Nadiad 1949
Ramnarayan V. Pathak Rajkot 1946
Vidyagauri Nilkanth Baroda 1943
Ardeshar Khabardar Bombay 1941
Kanaiyalal M. Munshi Karachi 1937
Mohandas Karamchand Gandhi Ahmedabad 1936
Krishnalal Mohanlal Jhaveri Lathi 1931
Bhulabhai Jivanaji Desai Nadiad 1931
Anandshankar Dhruv Nadiad 1928
Ramanbhai Nilkanth Bombay 1926
Kamlashankar Trivedi Bhavnagar 1924
Ranchhodlal Udayaram Dave Baroda 1921
Hargovinddas Kantawala Ahmedabad 1920
Narsinhrao Divetia Surat 1915
अम्बालाल एस देसाई राजकोट 1909
केशवलाल ध्रुव मुम्बई 1907
गोवर्धनराम माधवराम त्रिपाठी अहमदाबाद 1905

गतिविधियाँ[संपादित करें]

बुध सभा

परिषद ने गुजराती साहित्य के इतिहास के सात खंड प्रकाशित किए, जिनमें से पहली खंड में 1150 ईस्वी सन् से 1450 ई। की अवधि शामिल है बुध सभा के नाम से एक साप्ताहिक काव्य कार्यशाला विश्व परिषद केंद्र में प्रत्येक बुधवार को आयोजित की जाती है।

गुजराती साहित्य परिषद, साहित्य की विभिन्न विधाओं में लेखकों को 30 पुरस्कार देती है। हर दो वर्ष में दिए जाने वाले पुरस्कार ये हैं: [5]

  • सर्वश्रेष्ठ साहित्यिक कार्य के लिए उमा-स्नेहरश्मि पुरस्कार
  • भक्ति साहित्य पर सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के लिए श्री अरविंद पुरस्कार
  • जीवनी, निबंध या यात्रा की सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के लिए काकासाहेब कालेलकर पुरस्कार
  • भगिनी निवेदिता पुरस्कार, सर्वश्रेष्ठ महिला लेखक को दिया जाता है
  • सर्वश्रेष्ठ एकांकी के लिए बटुभाई उमरवाडिया पुरस्कार
  • सर्वश्रेष्ठ हास्य कार्य के लिए ज्योतीन्द्र एच दवे पुरस्कार
  • सामाजिक शिक्षा पर सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के लिए परमानंद कुंवरजी कपाड़िया पुरस्कार
  • शिक्षा पर सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के लिए पी त्रिवेदी पुरस्कार
  • काव्य या आलोचना पर सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के लिए रामप्रसाद बक्शी पुरस्कार
  • कविता, नाटक, लघु कहानी या उपन्यास के लेखकों के पहले प्रकाशन के लिए बीएम मांकड़ पुरस्कार
  • सामाजिक दर्शन या आलोचना पर सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के लिए हरिलाल मानेकलाल देसाई पुरस्कार
  • सर्वश्रेष्ठ लंबी कविता के लिए उषनस पुरस्कार
  • कविता, नाटक, लघु कहानी या उपन्यास के पहले प्रकाशन के लेखकों में सर्वश्रेष्ठ के लिए तख्तसिंह परमार पुरस्कार
  • बाल साहित्य के लिए नटवर मालवी पुरस्कार
  • मानवता पर सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के लिए एनीबेन सरैया पुरस्कार
  • कविता के सर्वश्रेष्ठ संकलन के लिए महेंद्र भगत पुरस्कार
  • ग़ज़लों के सर्वश्रेष्ठ संकलन के लिए दिलीप मेहता पुरस्कार
  • लघुकथा के सर्वश्रेष्ठ संग्रह के लिए रमन पाठक सशिपति पुरस्कार
  • सर्वश्रेष्ठ अनुवाद के लिए गोपालदास विद्वान पुरस्कार
  • समाजशास्त्र की सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के लिए भास्करराव विदवान पुरस्कार
  • सर्वश्रेष्ठ बाल साहित्य पुस्तक के लिए रमनलाल सोनी पुरस्कार
  • सर्वश्रेष्ठ महिला अनुवादक के लिए सुरेश मजूमदार पुरस्कार
  • आलोचना पर सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के लिए रमनलाल जोशी पुरस्कार
  • सर्वश्रेष्ठ पीएच.डी. थीसिस के लिए उपेन्द्र पंड्या पुरस्कार
  • भाषाविज्ञान या व्याकरण में सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के लिए प्रभाशंकर तराईया पुरस्कार
  • संस्कृत, प्राकृत और गुजराती व्याकरण पर सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के लिए पंडित बेचारदास जीवराज ढोशी पुरस्कार
  • सर्वश्रेष्ठ उपन्यास के लिए प्रियकांत परीख पुरस्कार
  • मानवीय संबंधों या अर्थशास्त्र पर सर्वश्रेष्ठ पुस्तक के लिए रामू पंडित पुरस्कार

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "ગુજરાતી સાહિત્ય પરિષદ - Gujarati Sahitya Parishad". www.gujaratisahityaparishad.com. अभिगमन तिथि 2020-10-25.
  2. "Prakash N Shah elected as new President of Gujarati Sahitya Parishad". DeshGujarat. 23 October 2020. अभिगमन तिथि 25 October 2020.
  3. "Dhirubhai Parikh becomes new President of Gujarati Sahitya Parishad". DeshGujarat. 24 December 2013. अभिगमन तिथि 10 May 2014.
  4. "Varsha Adalja new President of Gujarati Sahitya Parishad, Prakash Bhagwati new President of GCCI". DeshGujarat. 27 July 2012. अभिगमन तिथि 28 May 2014.
  5. Abichandani, Param A; Dutt, K C. (2005). Encyclopaedia of Indian Literature: Supplementary Entries and Index (2nd संस्करण). New Delhi: Sahitya Akademi. पपृ॰ 4690–4691. OCLC 34346409.