गिनी (क्षेत्र)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
गिनी (पीले रंग में)

गिनी पश्चिम अफ्रीका के तट के क्षेत्र के लिए पारंपरिक नाम है जो गिनी की खाड़ी के साथ स्थित है। यह प्राकृतिक रूप से नम उष्णकटिबंधीय जंगल या सवाना है जो तट के साथ फैले हुए हैं। यह क्षेत्र उत्तर में सहेल से सीमा रखता है। "गिनी" शब्द की व्युत्पत्ति अनिश्चित है। ऐतिहासिक रूप से, गिनी क्षेत्र अफ्रीका के सबसे पहले हिस्सों में से एक था जो यूरोपीय लोगों के साथ व्यापार करना शुरू किया था। प्रथम पुर्तगाली फिर स्पेनी आए। उसके बाद डच, फ्रांसिसी और ब्रिटिश आए।

हाथीदाँत, सोना और गुलामों में व्यापक व्यापार ने इस क्षेत्र को अमीर बना दिया। 18वीं और 19वीं सदी में कई केंद्रीकृत साम्राज्य विकसित हुए। ये व्यापक खुले सहेल के बड़े राज्यों की तुलना में बहुत छोटे थे, लेकिन उनके पास जनसंख्या घनत्व बहुत अधिक था और वह राजनीतिक रूप से अधिक केंद्रीकृत थे। इन साम्राज्यों के एकजुटता ने क्षेत्र को अफ्रीका के अन्य क्षेत्रों की तुलना में यूरोपीय घुसपैठ के प्रति अधिक प्रतिरोध दिखाने के लिए प्रेरित किया। यूरोपियों लोगों के प्रति बीमारी के माहौल के साथ इस तरह के प्रतिरोध का मतलब था कि 19वीं शताब्दी के अंत तक यूरोपियों द्वारा गिनी का अधिकांश उपनिवेशीकरण नहीं किया गया था।

गिनी में देश[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]