गाजर का हलवा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
गाजर का पाक/हलवा
उद्भव
संबंधित देश भारत
देश का क्षेत्र उत्तर प्रदेश
व्यंजन का ब्यौरा
मुख्य सामग्री गाजर, शक्कर, दूध

गाजर का पाक/हलवा एक भारतीय व्यञ्जन है। ये एक गाजर की मिठाई है। यह मिठाई एक विशिष्ट मात्रा में पानी, दूध, कसा हुआ गाजर और चीनी एक बर्तन में रखकर और फिर उसे नियमित रूप से हिलाते हुए पकाया जाता है। यह अक्सर बादाम और पिस्ता के टुकड़ो से सजाकर परोसा जाता है। हलवे में डाली जाने वाली काजु, बादाम, पिस्ता और अन्य चीजें पहले घी में तली जाती हैं। फिर वो सब तली हुई चीजें हलवे में ऊपर से डालकर सजाई जाती है।[1][2][3]

भारत में सभी त्योहारों के दौरान इस मिठाई को पारंपरिक रूप से खाया जाता है, मुख्यतः दीवाली, होली, ईद अल-फितर और रक्षा बंधन के अवसर पर गाजर का हलवा बनाया और खाया जाता है। यह मिठाई सर्दियों के दौरान गर्म गर्मही परोसी जाती है।

त्योहार के समय बहुत से लोग अपने थाली में शाकाहारी व्यंजन के साथ-साथ मिठाइयां भी पसंद करते हैं। गाजर का हलवा पूरे भारत में एक लोकप्रिय मिठाई है और प्रायः सभी त्योहारों में परोसी जाती है। ये पकवान वयस्कों के साथ-साथ बच्चों में भी लोकप्रिय है।


सामग्री और बनाने की विधि

प्रथम चरण गाजर का हलवा बनाने के लिए मध्यम आकार की लाल-लाल गाजर लीजिये और उन्हें साफ़ पानी से धोकर अच्छी तरह छील लीजिये और अब छिले हुए गाजर एक बार फिर अच्छी तरह धोकर साफ़ कर लें ताकि किसी प्रकार की किसकिसाहट या मिट्टी न रह जाये। अब उनको कद्दू कस कर लीजिये।

द्वितीय चरण अब कढ़ाई में 1 बड़ा चम्मच देशी घी डालकर गर्म कीजिये और गर्म हो जाने पर उसमें कद्दू कस की हुयी गाजर को डालकर गाजर के मुलायम होने तक भून लीजिये। भूनें हुए गाजर में ऊपर टेबल में बताये गए दूध (500g) को डाल दीजिये। अब गाजर के गलने तक और दूध के सूख कर खोवा बनने तक इसे चलाते रहिये।

तृतीया चरण अब दूसरी तरफ एक फ्राइंग पैन में 2 बड़े चम्मच देशी घी डाल कर उसमें कटे हुए काजू, बादाम और केसर को डालकर थोड़ा फ्राई कर लें और उतारते समय किशमिश डाल लें। अब इस तड़के को गाजर के हलवे में डालकर अच्छी तरह मिला लीजिए।

चतुर्थ चरण अब इसमें चीनी (250g) डालकर इसे चीनी के अच्छी तरह मिल जाने तक चलाते रहिये। जब हलवे का पानी पूरी तरह सूख जाये तब इसमें एक चुटकी नमक डाल लीजिये क्योंकि नमक किसी भी मिठाई में मिले हुए मेवे, इलायची और केसर के स्वाद को और भी बढ़ा देता है और अब इसमें इलायची पाउडर तथा 1 बड़े चम्मच देशी घी को डालकर 4-5 मिनट तक कम आँच पर पका लीजिये।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Recipe: Carrot Halwa
  2. Julie Sahni (1985). Classic Punjabi vegetarian and Grain Cooking. HarperCollins. पृ॰ 512. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-688-04995-8.
  3. "Gajar Ka Gajrela". NDTV Cooks. अभिगमन तिथि 23 August 2012.