गला घोंटना

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

गर्दन पर बल लगाना तब तक जब तक किसी भी व्यक्ति को बेहोशी या उसकी मृत्यु न हो जाए, इस क्रिया को गला दबाना कहते हैं।

चीता इम्पाला की गर्दन द्बोंचता हुआ

गर्दन दबने से मृत्यु होने की वजह दिमाग में बड़ी ह्य्पोक्सिक स्थिति के कारण होती है। गला घुटना सबसे ज्यादा घातक किसी हिंसा के कारण या दुर्घटना में भी हो जाती है। [1] गला २ प्रकार से दबाया जा सकता है- हाथो से या फर किसी भी संयुक्ताक्षर की मदद से| गला घोटना एक कामुक श्वासावरोध क्रिया है जो की घातक हो सकती है, परिमित हो सकती है और बाधित भी हो सकती है। गला घोटने से मृत्यु श्वसन मार्ग में अवरोध की वजह से होती है। यह तकनीक बहुत सी मुक़ाबले के खेलो में और आत्मरक्षा के लिए इस्तेमाल की जाती है। यह ३ प्रकार की होती है:

  1. फांसी : गले पर किसी रस्सी की मदद से घाव करना और उससे निलंबन होना फांसी कहलाता है, और इससे व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है।
  2. संयुक्ताक्षर: बिना किसी निलंबन की मदद से गला घोटना वो भी किसी रस्सी या किसी और संयुक्ताक्षर की मदद से|यह प्रक्रिया किसी भी इंसान को मरने के लिए की जाती है क्यूंकि इसमें किसी संयुक्ताक्षर की मदद चाहिए होती है किसी इंसान को चोट पहुचाने के लिए। यह घेरेलु हिंसा में अत्यधिक देखी जाती है।[2]
  3. हाथ-संबंधी: हाथो से गला घोटने की क्रिया जिससे व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है और इसमें कोई भी सिरा इस्तेमाल नहीं होता। इस प्रक्रिया में इंसान के गले में रक्त के बहाव में कमी होती है जिसके कारण दिमाग तक रक्त नहीं पहुंच पता और जिससे इंसान की मृत्यु हो जाती है।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Ohlenkamp, Neil (2006). Judo Unleashed. ISBN 0-07-147534-6. Basic reference on judo choking techniques.
  2. University of Dundee, Forensic Medicine. Asphyxial Deaths. www.dundee.ac.uk. URL last accessed March 3, 2006.
  3. Ernoehazy, William; Ernoehazy,WS. Hanging Injuries and Strangulation. www.emedicine.com. URL last accessed March 3, 2006.