गणितीय सौन्दर्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कुछ गणितज्ञ अपने काम से, और सामान्य रूप से गणित से सौन्दर्य-सुख प्राप्त करते हैं, इसे ही गणितीय सौन्दर्य (Mathematical beauty) कहते हैं। गणितज्ञ इस प्रसन्नता को यह कहकर अभिव्यक्त करते हैं कि गणित (या, कम से कम, गणित के कुछ पहलू) 'सुन्दर' है। गणितज्ञ, गणित को कला का ही रूप समझते हैं, या कम से कम, एक रचनात्मक गतिविधि के रूप में समझते हैं। प्रायः इसकी तुलना संगीत और कविता के साथ की जाती है।