गंगोत्री हिमानी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
गंगोत्री हिमानी
Gangotri glacier
Gomukh the source of Ganga.jpg
गौमुख, गंगा का स्रोत
Map showing the location of गंगोत्री हिमानी
Map showing the location of गंगोत्री हिमानी
उत्तराखण्ड में स्थान
स्थान उत्तरकाशी ज़िला, गढ़वाल हिमालय, उत्तराखण्ड, भारत
निर्देशांक 30°49′59″N 79°10′01″E / 30.833°N 79.167°E / 30.833; 79.167निर्देशांक: 30°49′59″N 79°10′01″E / 30.833°N 79.167°E / 30.833; 79.167

गंगोत्री हिमानी (Gangotri Glacier) भारत के उत्तराखण्ड राज्य के उत्तरकाशी ज़िले में स्थित हिमालय की एक हिमानी (ग्लेशियर) है। यह क्षेत्र हिन्दुओं के लिए एक तीर्थ है और तिब्बत से सीमावर्ती है। गंगोत्री हिमानी गंगा नदी के प्रमुख स्रोतों में से है और 27 घन किमी के आकार के साथ हिमालय की सबसे बड़ी हिमानियों में से एक है। यह 30 किमी (19 मील) लम्बी और 2 से 4 किमी (1 से 2 मील) चौड़ी है। इस हिमानी के इर्दगिर्द गंगोत्री समूह के पर्वत हैं, जिममें बहुत कठिनाई से चढ़ने वाले शिवलिंग, थलै सागर, मेरु और भागीरथ-तृतीय शामिल हैं। गंगोत्री हिमानी इस समूह के सर्वोच्च पर्वत, चौखम्बा, के नीचे एक हिमगह्वर में आरम्भ होती है और फिर लगभग पश्चिमोत्तर दिशा में बहती है। हिमानी का अंत जहाँ होता है उसका नाम गौमुख है, क्योंकि उस स्थान का आकार एक गाय के मुख से मिलता है, और यह स्थान गंगोत्री बस्ती से 19 किमी दूर है। गौमुख शिवलिंग पर्वत के चरणों के समीप है और दोनों के बीच तपोवन नामक मर्ग (घास का मैदान) है।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Gyan Marwah. "Ganges - A River of No Return?". the-south-asian.com. अभिगमन तिथि 2007-06-24.

आगे पढ़ें[संपादित करें]

  • बाली, आर, अवस्थी, डी डी तिवारी, एन. के. 2003 Neotectonic पर नियंत्रण geomorphic विकास की गंगोत्री ग्लेशियर घाटी, गढ़वाल हिमालय, गोंडवाना अनुसंधान, 2003, Vol, 6 (4) पीपी. 829-838.
  • अवस्थी, D. D., बाली, और आर तिवारी, एन. के. 2004. रिश्तेदार डेटिंग द्वारा lichenometric और श्मिट हथौड़ा तकनीक में गंगोत्री ग्लेशियर घाटी में उत्तरकाशी जिले, उत्तरांचल. Spl. पब. पाल. समाज है । Ind नहीं है । 2 पीपी. 201– 206.
  • अवस्थी, D. D., बाली, और आर तिवारी, एन. के. 2004. विकास दर की दाद Dimelaena Orina में गंगोत्री ग्लेशियर घाटी में उत्तरकाशी जिले, उत्तरांचल: कुछ महत्वपूर्ण टिप्पणियों Geol. सुर. Ind. Spl. पब. No. 80.
  • सिंह, ध्रुव सेन 2004. देर चतुर्धातुक Morpho-तलछटी प्रक्रियाओं में गंगोत्री ग्लेशियर क्षेत्र, गढ़वाल हिमालय, भारत के लिए है । Geol Surv भारत Spl. पब. No. 80, 2004: 97-103.
  • सिंह, ध्रुव सेन और मिश्रा. A. 2002. गंगोत्री ग्लेशियर सिस्टम, गढ़वाल हिमालय: एक विश्लेषण का उपयोग जीआईएस तकनीक है । पहलुओं के भूविज्ञान और पर्यावरण के हिमालय हैं । द्वारा संपादित पंत, सी. सी. और शर्मा, ए. Gyanodaya प्रकाशन, नैनीताल, भारत, पीपी 349-358.
  • सिंह, ध्रुव सेन और मिश्रा. A. 2002. भूमिका के सहायक ग्लेशियरों पर परिदृश्य संशोधन में गंगोत्री ग्लेशियर क्षेत्र, गढ़वाल हिमालय, भारत के लिए है । वर्तमान विज्ञान, 82 (5), 101-105. https://web.archive.org/web/20110605032941/http://www.ias.ac.in/currsci/mar102002/567.pdf
  • सिंह, ध्रुव सेन और मिश्रा, ए. 2001. गंगोत्री ग्लेशियर विशेषताओं, पीछे हटने और प्रक्रियाओं के अवसादन में भागीरथी घाटी. जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया Spl. पब.No. 65 (III), 17-20.