खान भाकरी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

खान भाकरी ग्राम दौसा जिले की २००० की आबादी वाला एक ग्राम है। यह गाँव दो पहाडीयों के बीच बसा हुआ है। इस गाव का वातावरण दिल को छू जाने वाला है, यह एक साफ़-सुथरा गाँव है, गाँव की हर गली में पक्की सड़क बिछी हुई है। इस गाँव की दोनो पहाड़ीयों पर अनेक देवता विराजमान हैं जैसे -चावण़्डी माता, पीर बाबा, भैरव बाबा एवम यहाँ के दो प्रसिद्द मन्दीर (किले वाले हनुमान जी महाराज और विशाल शिवलिन्ग भी ईसी पहाडी पर विराजमान हैं। इसी पहाड़ी पर दो बावड़ियाँ बनी हुई हैं जिनका पानी दिखने में महज ३००० लीटर है मगर यह पानी कभी खत्म नहीं होता। यहाँ के बुज़ुर्ग कहते हैं कि इस चमत्कारिकता में किसी तपस्वी महात्मा का वरदान है इन बावडियों ने इस गाव कि सुन्दरता में चार चान्द लगा रखे है और एक खास बात यह है कि इसी पहाड़ी के निचे एक विशाल कुण्ड है जो कि काफी चोडा और काफी गहरा है। यह कुण्ड गाँव वालों के स्नान करने के काम आता है। गाँव में एक सुन्दर बगीचा भी है। दिखने में यह गाँव काफी् सुन्दर है।