खंडायत

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

खंडायत ( संस्कृत खंडा-आयत, "तलवार पे महारत हासिल करना ") ओडिशा भारत की एक जाति है। उन की जनसंख्या ओड़िशा की कुल जनसंख्या का 22% है। वे मुख्य रूप से प्राचीन से लेकर मध्यकालीन युग तक ‌ओडिशा राज्य का सत्ताधारी में शामिल थे.[1]

परिचय[संपादित करें]

इतिहास में, खंडायत समुदाय ओडिशा कि सब्से बडि और सब्से प्रभुत्वशाली समुदाय में थि, जब तक ब्राह्मणों ने २१ सदी मै शाशन का मोका मिला। उत्तर भारत में जब तुर्की-मंगोल आक्रमण ने क्षत्रिय समुदाय का राज्य के ऊपर सत्ताधारी कम कर लिया था, इसी वक़्त खंडायत समुदाय सत्ताधारी में थे और ओडिशा को विदेशी आक्रमण से बचाया। वे बहादुर और साहसी जाने जाता है।  जैसे राजपूतों और खत्रियों उत्तर भारत के क्षत्रिय जाती में आते हैं, वैसे ही खंडायत ओडिशा और पूर्वी भारत के क्षत्रिय जाती मैं आते हैं। [2][3]

व्युत्पत्ति[संपादित करें]

श्री गजपति महाराजा

नाम खंडायत है से उत्पन्न शब्द "खंडा" के साथ अपने मूल में संस्कृत का मतलब है जो तलवार और "आयत" का मतलब है, जो नियंत्रण में विशिष्ट क्षेत्र है। तो श्री गजपति महाराजा के आदेश के अनुसार, सचमुच खंडायत का मतलब एक व्यक्ति पर पूर्ण नियंत्रण होने के नियम, युद्ध, और अनुशासन.[4][5][6]

प्रमाण[संपादित करें]

  1. Bailey, Frederick George (1970).
  2. Pati, Biswamoy (2001).
  3. Patnaik, N (2000).
  4. Ernst, Waltraun; Pati, Biswamoy (2007).
  5. Mohapatra, Dr. Hemanta Kumar (December 2014).
  6. Indian Association of Kickboxing Organisations, 9 February 2013.

आगे पढ़े[संपादित करें]

  • Ernst, Waltraud; Pati, Biswamoy, संपा॰ (2007). India's Princely States: People, Princes and Colonialism. Routledge. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-13411-988-2. |ISBN= और |isbn= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  • Pati, Biswamoy (2001). Situating Social History: Orissa, 1800-1997. Orient Blackswan. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-8-12502-007-3. |ISBN= और |isbn= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  • Senapati, Fakir Mohan (2005). Six Acres and a Third: The Classic Nineteenth-century Novel about Colonial India. Mishra, Rabi Shankar (trans.). University of California Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-52022-883-2. |ISBN= और |isbn= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  • Roy, Bhaskar (2004). "Khandayats moving into political gear in Orissa". Times of India.