क्षेत्र प्रभाव ट्रांजिस्टर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
स्रोत, गेट और ड्रैन सीरों को प्रदर्शित करता हुआ क्षेत्र प्रभाव ट्रांजिस्टर का पार-काट दृश्य

क्षेत्र प्रभाव ट्रांजिस्टर (field-effect transistor; FET) धारा को नियंत्रित करने के लिए विद्युत क्षेत्र का उपयोग करने वाला ट्रांजिस्टर होता है। इनको लघु रूप में फेट (FET) भी कहते हैं।

फेट को एक-ध्रुवीय ट्रांजिस्टर (unipolar transistors) भी कहते हैं क्योंकि इसमें एक ही तरह के आवेश वाहक संक्रियायें होती हैं। अर्थात् फेट में या तो इलेक्ट्रॉन या फिर कोटर में से केवल एक ही तरह के आवेश वाहकों की संक्रियायें होती हैं लेकिन दोनों तरह की नहीं। विभिन्न तरह के क्षेत्र प्रभाव ट्रांजिस्टर उपलब्ध हैं। क्षेत्र प्रभाव ट्रांजिस्टर निम्न आवृत्तियों पर उच्च निवेशी प्रतिबाधा व्युत्पन्न करता है। व्यापक रूप में काम में लिया जाने वाला क्षेत्र प्रभाव ट्रांजिस्टर मॉसफेट (मेटल-ऑक्साइड-सेमीकंडकटर फिल्ड इफेक्ट ट्रांजिस्टर) है जिसके पूर्ण नामक का हिन्दी अनुवाद ऑक्सीकृत धातु अर्द्धचालक क्षेत्र प्रभाव ट्रांजिस्टर है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]