क्रिस्टलन जल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

क्रिस्टल के अन्दर विद्यमान जल को क्रिस्टलन जल (water of crystallization या water of hydration या crystallization water) कहते हैं। क्रिस्टल बनने के लिये जल प्रायः आवश्यक होता है। [1]

कुछ सन्दर्भों में, किसी दिये हुए ताप पर, किसी पदार्थ में उपस्थित जल की कुल मात्रा को क्रिस्टलन जल कहते हैं। जल की यह मात्रा एक निश्चित अनुपात में होती है।

उदाहरण