क्रिप्टोग्राफी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

क्रिप्टोलोजी को मुख्यता दो भागो मैं बाटा गया है | क्रिप्टोग्राफी एवं क्रिप्टोएनालिसिस , इन प्रक्रियाओ के माध्यम से हम संदेशो एवं सूचनाओ को सुरक्षित तरीके से भेज एवं प्राप्त कर सकते है | अतः भेजने वाले के संदेशो को एन्क्रिप्टेड करना क्रिप्टोग्राफी कहलाता है | इस तकनीक का उपयोग करके हम सन्देश को इतना सुरक्षित कर देते है की कोई भी मिडिल मेन इस सन्देश को पड़ नहीं सकता है |

क्रिप्टोएनालिसिस संचार संदेशो की कमजोरी का विश्लेषण करना क्रिप्टोएनालिसिस कहलाता है | और पता लगाया जाता है की क्या इस सन्देश को कोई मिडिल मेन या हैकर पड़ सकता है नहीं | अतः हम कह सकते है की इन से सुरक्षित सूचनाओ के संचार माध्यमो का विकास किया जाता हिया|