क्रांति का अधिकार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बैसिल का तूफान (१४ जुलाई १७८९)

राजनैतिक दर्शन के सन्दर्भ में, क्रांति का अधिकार (right of revolution या right of rebellion) किसी देश के लोगों का वह अधिकार है जिसके तहत वे सामूहिक हित के विरुद्ध कार्य करने वाली सरकार को उखाड़कर फेंक सकते हैं। यह अधिकार ही नहीं, लर्तव्य भी है। इसीलिये इसे 'क्रांति का कर्तव्य' भी कहा जाता है। इस अधिकार का इतिहास प्राचीन चीन के समय जितना पुराना है और इसका उपयोग इतिहास में समय-समय पर किया जाता रहा है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]