कौण्डभट्ट

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कौण्डभट्ट, एक प्रसिद्ध वैयाकरण थे। वे भट्टोजिदीक्षित के भतीजे थे। उनके पिता का नाम रंगोजिदीक्षित था। उनका जन्म १७वीं शताब्दी में हुआ था।

कृतियाँ[संपादित करें]

  • न्यायपदार्थदीपिका
  • वैयाकरणभूषण,
  • वैयाकरणभूषणसार, तथा
  • लघुवैयाकरणभूषण

अन्तिम तीनों ग्रन्थ भट्टोजिदीक्षित द्वारा रचित शब्दकौस्तुभ की व्याख्या करते हैं।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]