कोटपुतली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कोटपूतली एक शहर तथा नगर पालिका है जो जयपुर जिला राजस्थान में हरियाणा सीमा के पास स्थित है जनसँख्या -२००१ के आंकडो के हिसाब से यहाँ की आबादी ४०१५७ है जिसमे ५३% पुरुष तथा ४७% महिला है, साक्षरता दर ६७% है कोटपूतली एक बड़े शहर और राजस्थान राज्य के जयपुर जिले में एक नगर पालिका है। अब यह मुख्य शहर का एक हिस्सा माना जाता है जो कोट और आसपास के पूतली गांव नामित मुख्य शहर है, से बना है। कोटपूतली एक बहुत पुरानी और ऐतिहासिक जगह है। यह महाभारत की अवधि के दौरान पास के कस्बे विराटनगर[बैराठ]पर राजधानी होने मत्स्य (अब अलवर) राज्य का एक हिस्सा था। कोटपूतली तंवर राजपूत पाटन में अपने मूल, सीकर जिले में अब एक छोटे से शहर होने के नाम पर है जो टोरावाटी का एक हिस्सा था। ब्रिटिश काल के दौरान, कोटपूतली खेतड़ी की रियासत के तहत एक निजामत था। खेतड़ी के राजा सरदार सिंह उपस्थित सरदार स्कूल और सरदार जनाना अस्पताल सहित कोटपूतली में कई इमारतों का निर्माण किया। इसका स्थान भी बहुत अच्छा है। यह 79 किलोमीटर दूर अलवर से 105 किलोमीटर दूर जयपुर से और गुड़गांव से 128 किमी दूर है। यात्रा करने के लिए आस-पास के स्थानों पर यह एक तेजी से विकसित शहर है, जिनमें सिलीसेढ़, सरिस्का,विराटनगर,सरूंड माता,भानगढ़ अादि शामिल है। यहां पर सीमेंट उत्पादन के मामले में एशिया की सबसे बड़ी कंपनी अल्ट्राटेक सीमेंट[आदित्य बिरला ग्रुप] का सीमेंट का कारखाना है।

गत पंचायती चुनाव के दौरान कोटपूतली पंचायत समिति में से कुछ ग्राम प़ंचायतें निकालकर पावटा नयी पंचायत समिति बनायी गयी है।

ग्राम पंचायत रायकरणपुरा के बखराना गांव में स्थित ठाकुर जी का मंदीर है जो दन्त कथानुसार लगभग ६०० वर्ष पुराना है।

कोटपूतली तहसील के ग्राम भूरी भड़ाज में ढाणी मंगलदासवाली में ठाकुरजी महाराज का प्राचीन मन्दिर है ।