कैरौं की महान मस्जिद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
कैरौं की महान मस्जिद
Great Mosque of Kairouan Panorama - Grande Mosquée de Kairouan Panorama.jpg
मस्जिद के दोपहर का एक दृश्य
धर्म संबंधी जानकारी
सम्बद्धताइस्लाम
वर्तमान स्थितिसक्रिय
अवस्थिति जानकारी
अवस्थितिकैरौं, ट्यूनीशिया
वास्तु विवरण
शिलान्यास670
मीनारें1
उकबा की मस्जिद (केयूरान की महान मस्जिद) में हाइपोस्टाइल प्रार्थना हॉल का आंतरिक दृश्य)


कैरौं की महान मस्जिद (अरबी: جامع القيروان الأكبر‎), जिसे उक़्बा की मस्जिद भी कहा जाता है (جامع عقبة بن نافع), जो ट्यूनीशिया के कैरौं में स्थित एक मस्जिद है। जिसे यूनेस्को की विश्व विरासत नगरी का दर्जा दिया गया है, यह उत्तरी अफ्रीका में सबसे बड़े और सबसे प्रभावशाली इस्लामी स्मारक में से एक है। [1] यह मस्जिद अरब जनरल उकबा इब्न नफी द्वारा वर्ष 50 ऐ एच (670 ईस्वी) में कैरौं शहर की स्थापना के समय में स्थापित की गई, यह मस्जिद 9,000 वर्ग मीटर (97,000 वर्ग फुट) के क्षेत्र पर बना हुआ हैं। यह इस्लामी दुनिया में बने सबसे पुराने पूजा स्थलों में से एक है, और माघरेब में बने बाद के सभी मस्जिदों के लिए यह एक नमूना के रूप में था। लगभग 405 मीटर (1,329 फीट) की परिधि में एक हाइपोस्टाइल(कई पंक्तियों में खंभों द्वारा समर्थित छत) प्रार्थना कक्ष, एक संगमरमर का पक्का आंगन और एक चौकोर मीनार है। अपनी आध्यात्मिक प्रतिष्ठा के अलावा, [2] उकाब की यह मस्जिद इस्लामी वास्तुकला की उत्कृष्ट कृतियों में से एक है, [3][4][5] जिनमे घोड़े की नाल वाले मेहराब के पहले उपयोग व अन्य चीजे उल्लेखनीय है।

दो शताब्दियों बाद (9 वें ईस्वी) में अघलाबिद के तहत व्यापक कामों ने मस्जिद को अपना वर्तमान पहलू को रूप दिया। [6] उकबा की मस्जिद और कैरौं के अन्य पवित्र स्थलों की प्रसिद्धि ने शहर को विकसित और विस्तारित करने में मदद की। यहां के विश्वविद्यालय, मस्जिद में पढ़ाने वाले विद्वानों से युक्त था, जो इस्लामी विचार और धर्मनिरपेक्ष विज्ञान दोनों में शिक्षा का केंद्र था। उस समय की भूमिका की तुलना मध्य युग में पेरिस विश्वविद्यालय की तुलना से की जा सकती है। [7] 11 वीं शताब्दी के मध्य से शहर में गिरावट आने के साथ, बौद्धिक विचार का केंद्र ट्यूनिस में ईज़-जितौना विश्वविद्यालय में स्थानांतरित हो गया। [8][9]

स्थान और सामान्य पहलू[संपादित करें]

मदीना के उत्तर-पूर्व कोने में अपनी ग्रेट मस्जिद का स्थान दिखाते हुए केयूरान का नक्शा (1916)
बाहर के कई बटवारे हैं। यहाँ उत्तर पश्चिम कोना है।
दक्षिणी अग्रभाग का दृश्य
शाम के समय मस्जिद का एक दृश्य


कैरौं के मदीना के उत्तर-पूर्व में स्थित, मस्जिद हुअमत अल-जमी (शाब्दिक रूप से "महान मस्जिद का क्षेत्र") के आंतरिक जिले में है। [10] यह स्थान मूल रूप से उकबा इब्न नफी द्वारा स्थापित शहर के शहरी भाग के केंद्र के अनुरूप था। हालाँकि वदिस की कई सहायक नदियों द्वारा पार की गई इस भूमि के प्राकृतिक स्तर को देखते हुए, शहर का शहरी विकास दक्षिण की ओर फैल गया था। 449 एएच (1057 ईस्वी) में हिलालियन के आक्रमणों सहित मानवीय कारकों से शहर में गिरावट आई और विकास को रोक लग गई। इन सभी कारणों के लिए, जो मस्जिद एक समय मदीना के केंद्र पर था जब इसे पहली बार 670 ईस्वी में बनाया गया था अब शहर की दीवारों को खत्म करने वाली सीमा के सबसे पूर्वी कोने पर था।

यह भवन एक विशाल अनियमित चतुर्भुज है जो लगभग 9,000 वर्ग मीटर क्षेत्र में फैला हुआ हैं। यह पश्चिम (125.20 मीटर) की तुलना में पूर्व की ओर (127.60 मीटर) लंबा है, और दक्षिण (78 मीटर) की तुलना में उत्तर की तरफ छोटा (72.70 मीटर) है। मुख्य मीनार उत्तर के मध्य में केंद्रित है।

बाहर से, कैरौं की महान मस्जिद एक किले जैसी इमारत है,जो 1.90 मीटर मोटी विशाल गेरू दीवारों के साथ जो अच्छी तरह से कटे हुए पत्थरों, मलबे के पत्थर और पके हुए ईंटों के बीच का एक संयोजन है। [11] दोनों तरफ के कोनो पर 4.25 मीटर ऊँची मीनारे थी जो दीवारों को ठोस समर्थन देती थी। नरम आधारों को देखते हुए यह मीनार, मस्जिद और दीवारों को संरचनात्मक मजबूती और स्थिरता प्रदान करती हैं। [12] एक मजबूत और कठिन दीवार के बावजूद, दीवार को मजबूती देने वाली सरचनांऐ पर तालबद्ध नक्शे,इसे एक शांत भव्यता का एहसास देते हैं। [12][13]

इतिहास[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. || Géotunis 2009 :: Kairouan ||
  2. Great Mosque of Kairouan (discoverislamicart.org) Archived 2013-04-07 at the वेबैक मशीन.
  3. Kairouan – UNESCO World Heritage Centre
  4. Kairouan 499
  5. The Great Mosque (kairouan-cci2009.nat.tn)[मृत कड़ियाँ]
  6. (फ्रेंच) M’hamed Hassine Fantar, De Carthage à Kairouan: 2000 ans d’art et d’histoire en Tunisie, éd. Agence française d’action artistique, Paris, 1982, p. 23
  7. Wilfrid Knapp and Nevill Barbour, North West Africa : a political and economic survey, Editions Oxford University Press, Oxford, 1977, page 404
  8. Henri Saladin, Tunis et Kairouan,Editions Henri Laurens, Paris, 1908, page 118
  9. Mahmud Abd al-Mawla, L’université zaytounienne et la société tunisienne, éditions Maison Tiers-Monde, Tunis, 1984, page 33
  10. (फ्रेंच) Mohamed Kerrou, « Quartiers et faubourgs de la médina de Kairouan. Des mots aux modes de spatialisation », Genèses, vol. 33, n°33, 1998, pp. 49–76
  11. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; enceintes नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  12. Néji Djelloul, op. cit., p. 8
  13. (फ्रेंच) Henri Saladin, Tunis et Kairouan, coll. Les Villes d’art célèbres, éd. Henri Laurens, Paris, 1908, p. 120

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

साँचा:Mosques in Tunisia