कैरल वाशा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कैरल वाशा (चॅक भाषा: Karel Vašák) (26 जून 1929 – 1 मई 2015) एक चेक - फ्रेंच अंतर्राष्ट्रीय अधिकारी और विश्वविद्यालय के प्रोफेसर थे। [1] [2]

1969 में वाशा स्ट्रासबर्ग में अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार संस्थान के पहले महासचिव बने। यह पद उन्होंने 1980 तक धारण किया। मानवाधिकार और शांति [3] प्रभाग के निदेशक के रूप में उन्होंने महत्वपूर्ण काम किया। इसके बाद उन्होंने यूनेस्को और विश्व पर्यटन संगठन के कानूनी सलाहकार के रूप में कार्य किया।

वाशा मानवाधिकारों के अंतर्राष्ट्रीय आयाम (The International Dimensions of Human Rights) नामक एक पुस्तक के संपादक थे जो 1982 में प्रकाशित हुई थी (ISBN 0-313-23394-2)।

उनके अनुसार मानवाधिकारों की उत्पत्ति की तीन पीढ़ियों में हुई है।

उनका निधन 1 मई 2015 को हुआ।

यह भी देखें[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "GoogleBooks". मूल से 27 अप्रैल 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 जून 2019.
  2. "Avis de décès de Karel VASAK" (French में). Libra Memoria. मूल से 13 जून 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 9 June 2015.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  3. UNESCO’s Philosophy of “intellectual and moral solidarity” in attaining peace. Archived 6 फ़रवरी 2012 at the वेबैक मशीन. UNESCO. Retrieved 17 August 2011.