केरल राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

केरल राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी (KSACS), एचआइवी / एड्स महामारी का मुकाबला करने में राज्य की रणनीति में एक निर्णायक भूमिका निभाती है। इसका काम एक शासकीया निकाय की देखरेख के द्वारा किया जाता है जो राज्य के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में होता है। केरल राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी का राज्य में राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम (एनएसीपी) को लागू करने के लिए गठन किया गया थ। यह राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन (नाको), जो भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय का एक हिस्सा है, उसके तहत काम करती है। राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम पूरी तरह से भारत सरकार द्वारा वित्त समर्थित है तथा उसे विश्व बैंक, ग्लोबल फंड एड्स, टीबी और मलेरिया, डीएफआईडी (अंतर्राष्ट्रीय विकास विभाग, ब्रिटेन) और यूएसएड (जैसे अंतरराष्ट्रीय ऋण संस्थाओं द्वारा) का समर्थन प्राप्त है।[1]

लक्ष्य और उद्देश्य[संपादित करें]

राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम (एनएसीपी-III) के लक्ष्य और उद्देश्यों को रोकने के लिए और रोकथाम, उपचार, देखभाल और सहायता कार्यक्रमों के एकीकरण के माध्यम से राज्य में महामारी बचाव हैं। इसके चार घटक हैं:

  • एक उच्च जोखिम वाले समूहों में नए संक्रमणों की रोकथाम के माध्यम से
  • लक्षित हस्तक्षेप के साथ उच्च जोखिम वाले समूहों तक पहुंचना तथा अन्य कमजोर आबादी में हस्तक्षेप करना.
  • एचआईवी / एड्स के साथ रह लोगों की देखभाल
  • बुनियादी सुविधाओं प्रणाली, जिला, राज्य स्तर पर रोकथाम और उपचार कार्यक्रमों में मानव संसाधनों को मजबूत बनाना
  • एक राज्य व्यापक रणनीतिक योजना की स्थापना, कार्यक्रम प्रबंधन, निगरानी और मूल्यांकन प्रणाली।[1]

केरल में एड्स प्रसार के आंकड़े[संपादित करें]

  • वयस्क एचआइवी प्रसार - 0.26%,
  • जच्चा से पूर्व क्लिनिक में प्रसार - 0.38% (2007)
  • एचआइवी सकारात्मक की अनुमानित संख्या 55,167
  • एस महिला यौनश्रमिकों में 0.87% पुरुष जो पुरुषों के साथ सम्बन्ध रखते हों 0.96%
  • 7.85% - इंजेक्शन से नशा करने वालों
  • एनएसीपी - सेवा केंद्र (के रूप में दिसम्बर 2008)

एकीकृत परामर्श और परीक्षण केन्द्रों-128
एंटी रेट्रोवायरल थेरेपी क्लिनिक - 6
14 स्वागत केन्द्र
संचारित रोग क्लिनिक-21[2]

केरल राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी फ़ेसबुक पर[संपादित करें]

सोसाइटी के बारे में पूरी जानकारी के साथ अपने संपर्क का विवरण फ़ेसबुक पर डाल दिया गया है। दीवार (wall) पर कई सन्देश और उनके उत्तर हैं। वर्तमान में, वहाँ 8 प्रशंसकों जो केवल समय और बढ़ती जागरूकता के साथ सुधार होगा।[3]

केरल राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी का ट्विट्टर पन्ना[संपादित करें]

यह दिलचस्प है कि केरल राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी का निष्क्रिय खाता ट्विट्टर पर मौजूद है जो 2010 के बाद से निष्क्रिय है। 2009 में 5 और 2010 में 2 ट्विट्टर सन्देश देखे गए, जिससे यह स्पष्ट होता है कि सोसाइटी इस मंच के लिए तैयार नहीं थी।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Kerala State AIDS Control Society, KSACS, Thiruvananthapuram". KSACS. मूल से 12 जुलाई 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 13 जुलाई 2012.
  2. "Kerala State AIDS Control Society, KSACS, Thiruvananthapuram". KSACS. मूल से 26 जून 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 13 जुलाई 2012.
  3. "Kerala State AIDS Control Society (KSACS) Joins Facebook". KSACS. मूल से 15 जुलाई 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 13 जुलाई 2012.