केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्‍थान, रुड़की

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्‍थान
CBRI-CSIR Roorkee.JPG
स्थापना 1947
Director Dr. Girish Sahni
अवस्थिति Roorkee-247 667, उत्तराखण्ड
जालस्थल www.cbri.res.in, http://india.gov.in/official-website-central-building-research-institute

केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्‍थान (Central Building Research Institute (CBRI)) की स्‍थापना भारत में भवन-निर्माण विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी के उत्‍पादन, दोहन तथा बढावा देने के उद्देश्‍य से की गई थी।

यह संस्‍थान अपने आरंभ काल 1947 से ही भवन-निर्माण तथा निर्माण सामग्री उद्योगों में निर्माण सामग्रियों, ग्रामीण तथा शहरी आवास, ऊर्जा संरक्षण, दक्षता, अग्नि जोखिमों, संरचनात्‍मक तथा नींव समस्‍याओं व आपदा न्‍यूनीकरण से संबंधित समस्‍याओं के यथासमय, समुचित तथा मितव्‍ययी समाधान ढूंढने में सहायता करता रहा है।

संस्‍थान ने अंतराष्‍ट्रीय निकायों जैसे - सी आई बी, नीदरलैंड, टी डब्‍ल्‍यू ए एस, इटली, बी आर ई, इंग्‍लैड, ए एस टी एम, यू एस ए, सी एस आई आर ओ, आस्‍ट्रेलिया, आर आई एल ई एम, फ्रांस, बी आर एस, कनाडा तथा यू एन सी एच एस नैरोबी, केन्‍या से संपर्क बनाए रखा है।

संस्‍थान राष्‍ट्रीय स्‍तर पर भी बी एम टी पी सी, हडको, विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी विभाग, शहरी विकास मंत्रालय, ग्रामीण क्षेत्र मंत्रालय, राज्‍य सरकारों के आवास बोर्डों तथा सोसाइटियों, इंजीनियरी तथा शैक्षणिक संस्‍थाओं, निर्माण तथा निर्माण सामग्री उद्योगों से भी निकट संपर्क में रहा है।

उद्देश्‍य[संपादित करें]

देश में भवन निर्माण विज्ञान के सभी क्षेत्रों में आने वाली समस्‍याओं के समाधान के लिए अनुप्रयुक्‍त तथा मूल अनुसंधान का कार्य करना:

  • आश्रय नियोजन
  • भवन निर्माण सामग्री
  • संरचना तथा नींव
  • अग्नि-इंजीनियरी सहित आपदा न्‍यूनीकरण
  • भवन निर्माण सामग्री तथा पद्धतियों को बढ़ावा देने के लिए नई प्रोद्योगिकियां विकसित करना
  • समाज की भलाई के लिए अनुसंधान परिणामों का व्‍यापक प्रसार करना
  • आगे व्‍यवसायिकरण हेतु विकसित प्रौद्योगिकियों को उद्योगों को हस्‍तांतरित करना

लक्ष्‍य[संपादित करें]

भवन तथा आवास के सभी पहलुओं पर अनुसंधान एवं विकास करना तथा भवन निर्माण उद्योग की आपदा न्‍यूनीकरण सहित सभी प्रकार के भवनों में मितव्‍ययिता, सुखदता, कार्यात्‍मक दक्षता, गति, निर्माण में उत्‍पादकता, पर्यावरण बचाव तथा ऊर्जा संरक्षण व नियोजन, अभिकल्‍पन, नींवों, सामग्रियों तथा निर्माण में आने वाली समस्‍याओं के समाधान में सहायता करना।

फोकस तथा विज़न[संपादित करें]

सी बी आर आई का कार्य भवन-निर्माण, हैबिटाट नियोजन सहित भवन निर्माण सामग्रियां, निर्माण प्रोद्योगिकी, अग्नि इंजीनियरी तथा आपदा न्‍यूनीकरण संरचना के प्राय सभी क्षेत्रों के समाधान उपलब्‍ध कराने के लिए विश्‍व स्‍तर का ज्ञान आधार तैयार करना है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]