कृतघ्न

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

किसी के द्वारा अपने प्रति किये गये सत्कार्यो को भूल जाने वाले या न मानने वाले व्यक्ति को कृतघ्न कहते हैं तथा इस प्रकार की क्रिया कृतघ्नता कहलाती है।

उदाहरण[संपादित करें]

  • कर्ण के जीवन का मूल मन्त्र था कृतघ्न न बनो।
  • मैं कितना कृतघ्न हूँ कि ईश्वर ने मुझे यह काया दी और मैंने उसे ही भुला दिया।
  • पड़ोसी को पड़ोसी के साथ कृतघ्न नहीं होना चाहिये।

मूल[संपादित करें]

अन्य अर्थ[संपादित करें]

  • नमकहराम
  • नाशुक्रा

संबंधित शब्द[संपादित करें]

हिंदी में[संपादित करें]

  • [[ ]]

अन्य भारतीय भाषाओं में निकटतम शब्द[संपादित करें]